लापरवाही को लेकर हटाये गए पीओ डूडा:BJP विधायक ने मुख्यमंत्री से की थी शिकायत, गैंग बनाकर वसूली करने का था आरोप

जौनपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये अनिल कुमार वर्मा की तस्वीर है।  अनिल को PO DUDA के पद से हटाया गया है। - Dainik Bhaskar
ये अनिल कुमार वर्मा की तस्वीर है। अनिल को PO DUDA के पद से हटाया गया है।

जौनपुर में नगरीय विकास अभिकरण अनिल कुमार वर्मा को लापरवाही के चलते हटाया गया है। पीओ डूडा लंबे समय से अपनी कार्यशैली को लेकर चर्चा में थे। बदलापुर के बीजेपी विधायक रमेश मिश्रा द्वारा पीओ डूडा की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की गई थी। मुख्यमंत्री के जौनपुर कार्यक्रम के दौरान बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री को पीओ डूडा की कार्यशैली के बारे में अवगत कराया था। अनिल वर्मा को हटाने के बाद अतिरिक्त एसडीम को पीओ डूडा का कार्यभार सौंपा गया है।

BJP विधायक ने लगाए थे आरोप
अनिल कुमार वर्मा पीओ डूडा के पद पर लंबे समय से तैनात थे। अनिल का मूल विभाग चकबंदी था। वह प्रतिनियुक्ति पर पीओ डोडा के पद पर कार्यरत थे। कुछ समय पूर्व अनिल कुमार वर्मा के खिलाफ बदलापुर के बीजेपी विधायक रमेश चंद्र मिश्रा ने शासन स्तर पर शिकायत की थी। रमेश चंद्र मिश्रा ने अनिल कुमार वर्मा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे।

एडीएम ने की थी जांच
तकरीबन 1 साल पहले एडीएम भू-राजस्व रजनीश कुमार द्विवेदी ने अनिल वर्मा के खिलाफ जांच की थी। उन्होंने अपनी जांच रिपोर्ट डीएम को प्रेषित की थी। जांच रिपोर्ट में एडीएम भू राजस्व रजनीश द्विवेदी ने बताया था कि आवास देने के नाम पर अनिल कुमार वर्मा द्वारा वसूली की जाती है। मीडिया को दिए गए बयान में एडीएम राजकुमार द्विवेदी ने कहा था कि गैंग बनाकर वसूली की जाती है। उन्होंने मुकदमा दर्ज करने का आदेश भी दिया था।

DM ने दी जानकारी
डीएम मनीष कुमार वर्मा ने शासन में कई बार पत्राचार किया। उन्होंने अनिल कुमार वर्मा को उनके मूल विभाग में भेजने का प्रस्ताव भी दिया था। अनिल कुमार वर्मा के कार्यालय में उनके आउटसोर्सिंग कर्मचारी यशवीर सिंह को लेकर काफी विवाद हुआ था। डीएम मनीष कुमार वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि अनिल कुमार वर्मा को उनके मूल विभाग चकबंदी लखनऊ में भेज दिया गया है। उनकी जगह अतिरिक्त एसडीएम शैलेंद्र को कार्यभार सौंपा गया है।

खबरें और भी हैं...