रोरा में जमकर गरजे किसान:महापंचायत में जिम्मेदारों को सुनाई खरी खोटी, समाधान न होने पर आंदोलन की चेतावनी

मऊरानीपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रोरा में किसान महापंचायत में जमकर गरजे किसान। - Dainik Bhaskar
रोरा में किसान महापंचायत में जमकर गरजे किसान।

उत्तर प्रदेश किसान कांग्रेस के बैनर तले जनपद झांसी जिले के मऊरानीपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम रोरा में आज विशाल किसान पंचायत का आयोजन किया गया, जिसमें समस्याओं को लेकर किसान खूब गरजे। जिम्मेदारों को खरी-खोटी सुनाते हुए आंदोलन की चेतावनी दी। पंचायत में प्रमुख रूप से 2021 खरीफ फसल का मुआवजा बीमा क्लेम एवं रबी फसल का मुआवजा विद्युत कटौती, रोरा संपर्क मार्ग क्षतिग्रस्त, जल मिशन अभियान के अंतर्गत गांव की सड़क को खोद दी गई।

आंदोलन की रणनीति बनाई

सिंचाई हेतु सरकारी ट्यूबवेल व निजी ट्यूबवेल की समस्याओं को लेकर किसान कांग्रेस की पंचायत में किसानों ने चिंतन मंथन किया। साथ में आंदोलन की रणनीति बनाई गई। किसानों ने पंचायत में एक सुर में सरकार से खेतों तक बिजली पहुंचाए जाने की मांग की है। किसानों को निजी ट्यूबवेल कनेक्शन सब्सिडी के अंतर्गत दिए जाएं साथ में सरकारी ट्यूबवेल लगवाए जाएं । नहर तो बनी है लेकिन नहर का उपयोग नहीं हो पाता यहां 50% जमीन सिंचाई के अभाव में खाली पड़ी रह जाती हैं।

फसल का मुआवजा न मिलने से नाराजगी

पंचायत में किसानों ने बताया मऊरानीपुर से लहचूरा रोड पर रोरा संपर्क मार्ग बना था जिसकी लंबाई 3 किलोमीटर है। एक वर्ष पूर्व पीएनसी कंपनी के द्वारा खोदा गया था आज तक ये रोड नहीं बन पाया है, रोड का निर्माण तत्काल कराया जाए। जल मिशन अभियान के अंतर्गत गांव के बीचो बीच रोड खोद दी गई है, जिसकी तत्काल रिपेयरिंग कराई जाए। किसान फेरन सिंह परिहार ने बताया 2021 में खरीफ फसल संपूर्ण रूप से नष्ट हुई थी जिसका अभी तक मुआवजा नहीं आया तत्काल मुआवजा व बीमा क्लेम दिलाया जाय। किसान नरेंद्र सिंह सेंगर ने बताया इस वर्ष रवि की फसल में आसमय बारिश होने से हमारे खेतों में पानी भर गया था, जिससे चना मटर मसूर की फसल नष्ट हुई थी, जिसका शासन ने सर्वे कराया था लेकिन अभी तक मुआवजा नहीं दिया गया।