झांसी में 10वीं की छात्रा ने फांसी लगाई:मां व दादी खेत पर गई थी, गांव के युवक ने घर आकर की थी गाली-गलौच

झांसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दसवीं कक्षा की छात्रा का पोस्टमार्टम कराने झांसी पहुंचे परिजन। - Dainik Bhaskar
दसवीं कक्षा की छात्रा का पोस्टमार्टम कराने झांसी पहुंचे परिजन।

झांसी में दसवीं कक्षा की छाक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसकी मां व दादी खेत पर गई थी। 5 दिन पुराने झगड़े के विवाद में गांव के एक युवक व उसकी मां ने घर के बाहर आकर गाली गलौच की थी। इसके बाद लड़की ने सुसाइड किया है।
मामला झांसी के शाहजहांपुर गांव का है। पुलिस ने मौके पर पंचनामा भरकर शव मेडिकल कॉलेज के मुर्दाघर में रखवाया है। मंगलवार दोपहर तक पोस्टमार्टम होगा।
ट्यूशन व स्कूल नहीं गई थी छात्रा
शाहहजहांपुर निवासी कीमती (16) पुत्र उमाशंकर दसवीं कक्षा में पढ़ती थी। मां प्रीति ने बताया कि उनका छोटा बेटा नीरज डीजे पर काम करता है। 29 दिसंबर को गांव में बर्थ-डे पार्टी में डीजे बजाने गया था। तब डीजे मालिक व गांव के युवक के बीच विवाद हो गया था। तब दोनों पक्षों ने थाने में शिकायत दी थी। इसके बाद युवक नीरज से रंजिश रखने लगा।
दो जनवरी को दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया था। सोमवार सुबह कीमती स्कूल नहीं गई थी और न ही ट्यूशन गई। पूछने पर दोनों जगह छुट्‌टी होने की बात बताई। इसके बाद दोपहर में मां व दादी खेत पर चली गई। मां का आरोप है कि बेटी घर पर अकेली थी। तब युवक व उसकी मां ने घर के बाहर आकर गाली गलौच कर दी थी।
अंदर से बंद थी कमरे की कुंदी
गांव के लोगों ने बताया कि आसपड़ोस के बच्चे खेल रहे थे, तब उन्होंने कीमती को फंदे पर लटका हुआ देखा। इसके बाद आसपास के लोगों को सूचना दी। लोगों ने हाथ डालकर कमरे की कुंदी खोली और छात्रा को नीचे उतारा। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। सूचना पर पुलिस व परिजन मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने देर रात शव मेडिकल कॉलेज में रखवाया था।
पिता की हो चुकी है मौत
कीमती इकलौती बेटी थी। उसके पिता उमाशंकर की करीब 5 साल पहले करंट लगने से मौत हो गई थी। वह ठेके पर लाइनमैन का काम करते थे। काम करते समय ही हादसा हुआ था।

खबरें और भी हैं...