• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • 32 year old Billionaire Entrepreneur Woman Pankhuri Of Jhansi Dies, Grabhouse Company Was Started In Mumbai With 20 Thousand, Annual Turnover Was 720 Crores

झांसी...32 साल की अरबपति उद्यमी महिला पंखुरी की मौत:मुंबई में 20 हजार से शुरू की थी ग्रैबहाउस कंपनी, सालाना टर्नओवर 720 करोड़ था

झांसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंखुरी श्रीवास्तव ने मुंबई में 20 हजार रुपए की लागत से ग्रैबहाउस कंपनी शुरू की थी। - Dainik Bhaskar
पंखुरी श्रीवास्तव ने मुंबई में 20 हजार रुपए की लागत से ग्रैबहाउस कंपनी शुरू की थी।

झांसी में जन्मी 32 साल की अरबपति उद्यमी महिला पंखुरी श्रीवास्तव की मौत की खबर से हर कोई हैरान है। छोटी-सी उम्र में पंखुरी ने जिन ऊंचाइयों को छुआ, उसका हर कोई कायल है। मुंबई में 20 हजार रुपए की लागत से ग्रैबहाउस कंपनी शुरू की थी। 4 साल में ही कंपनी का सालाना टर्नओवर करीब 720 करोड़ रुपए पहुंच गया था।

कंपनी क्विकर को बेचकर अब वह महिलाओं के उत्थान के लिए आक्स पंखुरी कंपनी चला रही थीं। पंखुरी का निधन कार्डियक अरेस्ट से हुआ है।

32 साल की अरबपति उद्यमी महिला पंखुरी की कार्डियक अरेस्ट से मौत।
32 साल की अरबपति उद्यमी महिला पंखुरी की कार्डियक अरेस्ट से मौत।

पिता केंद्रीय मंत्री के एपीएस रहे
पंखुरी के पिता रजनीश बैंक में मैनेजर थे। वह कांग्रेस सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे प्रदीप जैन आदित्य के एपीएस भी रहे। छोटे भाई प्रणय श्रीवास्तव ने बताया कि बहन पंखुरी ने 10वीं तक की पढ़ाई झांसी के सेंट फ्रांसिस इंटर कॉलेज से की थी। फिर भोपाल जाकर 12वीं और राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से बीटेक की पढ़ाई पूरी की। अपने सपनों को पंख देने के लिए मुंबई चली गईं। वहां टीच फॉर इंडिया के फैलोशिप प्रोग्राम के तहत 2 साल तक मुंबई के नगरपालिका स्कूलों में भी पढ़ाया।
जो कठिनाई झेली, उसी में बनाया भविष्य
छोटे भाई ने बताया कि जब बहन मुंबई पहुंची, तो रहने के लिए फ्लैट की जरूरत थी। रेंट पर फ्लैट लेने के लिए तमाम कठिनाई का सामना किया। ब्रोकर्स को भारी-भरकम फीस देनी पड़ी। तब जाकर मकान मिला। इस परेशानी के बाद उनके दिमाग में आइडिया आया कि क्यों न ऐसी कंपनी शुरू करें, जिससे लोगों को घर ढूंढने में इतनी जद्दोजहद न उठानी पड़े।
फिर क्या था उन्होंने 2012 में 20 हजार रुपए की लागत से ग्रैबहाउस​ कंपनी की​​​​​​ शुरुआत की। कंपनी ने इतनी लोकप्रियता हासिल कर ली कि उसका सालाना टर्नओवर करीब 720 करोड़ रुपए पहुंच गया। उनको रतन टाटा ने डिनर पर इनवाइट किया था। रेंटल स्टार्टअप ग्रैबहाउस को वर्ष 2016 में ऑनलाइन क्लासिफाइड कंपनी क्विकर को नकद और इक्विटी सौदे में बेच दिया।
झांसी में भी खोला था ऑफिस
मुंबई के बाद पंखरी बेंगलुरु शिफ्ट हो गई। इसके बाद महिलाओं पर फोकस करने वाले प्लेटफॉर्म आक्स पंखुरी को साल 2019 में लॉन्च किया था। इसके जरिए सदस्यों को लाइव इंटर एक्टिव कोर्स, एक्सपर्ट चैट और रूचि आधारित क्लब के माध्यम से समाजीकरण, खोजना और स्किल डेवलपमेंट बढ़ाने में मदद मिलती है।
पंखुरी ने इस प्लेटफॉर्म के जरिए सिकोइया कैपिटल इंडिया के ऐक्सलरेटर प्रोग्राम, सर्ज, और इंडिया कोटिएंट और टॉरस वेंचर्स से 3.2 मिलियन डॉलर की कमाई की थी। पंखरी कंपनी के दो ऑफिस बेंगलुरु व झांसी में हैं। बेंग्लोर ऑफिस में 40 महिलाएं व झांसी में 25 महिलाएं काम करती हैं।
बचपन के दोस्त से की थी लव मैरिज
पंखुरी ने अपने बचपन के दोस्त काजू बिजनेसमैन आदित्य राज शर्मा से 2 दिसंबर 2020 को झांसी के नजदीक ओरछा में एक होटल में शादी की थी। पिता व छोटे भाई ने बताया कि पंखरी बेंगलुरु में थी। 24 दिसंबर को उसकी कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई। शव झांसी लाकर 26 दिसंबर को अंतिम संस्कार किया गया।