झांसी...बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी के रिजल्ट में मिली गड़बड़ी:50 अंक की परीक्षा में दे दिए 51 से 61 नंबर, छात्रों ने सोशल मीडिया पर वायरल की मार्कशीट

झांसी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बुंदेलखंड यूनवर्सिटी एक बार फिर सुखिर्यों में है। इस बार विश्वविद्यालय ने एक नया कारनामा सामने आया है। कॉलेज प्रशासन ने बीकॉम फाइल ईयर के विद्यार्थियों को 50 में 51 से 61 नंबर तक दे दिए। मार्कशीट जारी होने के बाद प्रशासन में हड़कप मच गया। बीयू ने अपनी भूल को सुधारते हुए दूसरे मार्कशीट जारी कर दी।

ओएएमआर शीट पर हुआ एग्जाम

कोविड की तीसरी लहर की आशंका के बीच बीयू प्रशासन ने ओएमआर शीट पर परीक्षा कराई। एक दिन में दो से लेकर तीन पेपर कराए गए। एग्जाम के बाद एजेंसी ने सही और गलत प्रश्नों सही और गलत प्रश्नों की जानकारी यूनवर्सिटी को उपल्बध करा दी। इसके तय फार्मूले में चूक की वजह से एक काॅलेज के फाइनल ईयर के विद्यार्थियों को 50 में से 61 नंबर मिल गए।

छात्रों ने वायरल की मार्कशीट

इंटरनेट पर मार्कशीट जारी होने के बाद छात्रों ने अपनी मार्कशीट सोशल मीडिया पर वायरल करने लगे। कुछ छात्रों ने जमकर मीम्स भी बनाए। प्रशासन ने अपनी भूल को सुधारते हुए छात्रों की नई मार्कशीट अपलोड कर दी। वहीं बीयू ने बताया कि छात्र- छात्राएं इंटरनेट की मार्कशीट में छेड़छाड़ करते हुए सोशल मीडिया पर इसे वायरल कर रहे हैं।

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सकेंड ईयर के छात्रों प्रमोट करने का लिया था निर्णय

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी ने इस साल बीए,बीएसी,बीकॉम सेकंड ईयर में फेल हुए स्टूडेंट को अगली क्लास में प्रमोट करने का निर्णय लिया था। जबकि ग्रेजुएशन फाइनल ईयर के परीक्षा 26 अक्तूबर से शुरु होगी। इस बीयू ने लिखित परीक्षा कराने का निर्णय लिया हैं। सोमवार को हुई परीक्षा समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया है।

स्टूडेंट ने कॉलेज प्रशासन पर लगाया था फेल करने का आरोप

बीयू के छात्र छात्राओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर फेल करने का आरोप लगाते हुए परिसर में जमकर हंगामा किया था। उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन से नंबर बढाने की मांग की थी। छात्रों की मांग को देखते हुए प्रशासन ने कुलपति से बात कर पांच सदस्यीय कमेटी गठित हुई थी। सोमवार को हुई बैठक में यह फैसला ले गया इस बार सेकंड ईयर के स्टूडेंट को प्रमोट कर

खबरें और भी हैं...