झांसी में IT ने सीज किया CA सेठी का बंगला:घर में 6 सील लगाई, तिजोरी और दो बोरी कागजात जब्त, घनाराम ग्रुप पर जांच जारी

झांसी4 महीने पहले
जानकीपुरम में सीए दिनेश सेठी के घर के 6 दरवाजों पर सील लगाई गई है। साथ ही नोटिस में सील न हटाने की हिदायत दी गई है।

झांसी में घनाराम इंफ्रा ग्रुप और इससे जुड़े बिल्डरों के ठिकानों पर चल रही आयकर विभाग की जांच अब अंतिम पड़ाव पर पहुंच गई है। जांच के बाद CA (चार्टर्ड अकाउंटेंट) दिनेश सेठी के घर को पूरी तरह से सील कर दिया गया।

मुख्य दरवाजे, छतों के गेट से लेकर 6 जगह सील लगाई गई है। यानी टीम ने घर में प्रवेश के लिए कोई जगह नहीं छोड़ी है। साथ ही IT टीम तिजोरी और करीब दो बोरी में कागजात जब्त करके ले गई है।

IT की इजाजत पर खुलेगा घर

झांसी में इलाइट चौराहा के पास जानकीपुरम में बना सीए दिनेश सेठी का आलीशान बंगला।
झांसी में इलाइट चौराहा के पास जानकीपुरम में बना सीए दिनेश सेठी का आलीशान बंगला।

छापेमारी के बाद सीए दिनेश सेठी की मुश्किलें सबसे ज्यादा बढ़ गई है। अब सेठी का परिवार इनकम टैक्स विभाग की बिना इजाजत के घर की सील नहीं खोल सकता। सील के साथ लगाए गए नोटिस में लिखा है कि किसी भी हाल में सील हटनी नहीं चाहिए।

अगर सील खोली गई तो इनकम टैक्स एक्ट 1961 की धारा 275A के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। माना जा रहा है कि दिनेश सेठी लौटकर आएंगे तो टीम फिर से जांच करने के लिए उनके घर पर आ सकती है।

घर के ताले तोड़कर अंदर दाखिल हुई थी टीम

आईटी टीम ने 6 जगह ऐसी ही नोटिस चस्पा कर सील लगाई है। बिना इजाजत के कोई सील नहीं खोल सकता।
आईटी टीम ने 6 जगह ऐसी ही नोटिस चस्पा कर सील लगाई है। बिना इजाजत के कोई सील नहीं खोल सकता।

बुधवार सुबह आयकर विभाग की टीम सेठी के घर पर पहुंची थी। तब वह मॉर्निंग वॉक पर गए थे। बाकी परिजन बाहर थे। घर पर ताला लगा होने के कारण टीम ने घर के बाहर डेरा डाल लिया था। पहले पता चला कि वे शिवपुरी में है। फिर लखनऊ और बाद में पता चला कि दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं।

3 दिन तक इंतजार किया गया। जब सेठी व उनके परिजन लौटकर नहीं आए तो टीम ने हेड ऑफिस से परमिशन लेकर घर के ताले तोड़ दिए और अंदर दाखिल हो गई थी। अलमारी के ताले खुलवाकर टीम रजिस्ट्री समेत अन्य कागजात और तिजोरी जब्त करके ले गई।

10 जगह आईटी का छापा पड़ा था

झांसी में घनाराम ग्रुप और इससे जुड़े बिल्डर्स समेत 10 जगह आईटी का छापा पड़ा था। रविवार को टीम 8 बिल्डरों के यहां जांच पूरी करके लौट गई। अभी घनाराम ग्रुप के निदेशक बिशुन सिंह यादव और उनके भाई सपा नेता पूर्व एमएलसी श्याम सुंदर सिंह यादव और एक सीए के ठिकानों पर जांच चल रही है। सोमवार सुबह तक जांच पूरी होने का अनुमान है।