• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • Bharat Darshan Tourist Train To Visit Five Places Including Vaishno Devi From Jhansi; IRCTC Started Booking The Train Will Start From October 8

तीर्थ स्थल जाने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर:झांसी से वैष्णो देवी सहित पांच स्थानों के दर्शन कराएगी भारत दर्शन पर्यटक ट्रेन; 8 अक्टूबर से शुरू होगी भारत दर्शन,आईआरसीटीसी ने शुरू की बुकिंग

झांसी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
8 हजार 505 रुपये प्रति व्यक्ति स्लीपर श्रेणी और 10 हजार 395 रुपये प्रति व्यक्ति एसी 3 का खर्च उठाना होगा। - Dainik Bhaskar
8 हजार 505 रुपये प्रति व्यक्ति स्लीपर श्रेणी और 10 हजार 395 रुपये प्रति व्यक्ति एसी 3 का खर्च उठाना होगा।

झांसी से वैष्णो देवी के साथ आगरा, मथुरा, हरिद्वार-ऋषिकेश, अमृतसर दर्शन के लिए आईआरसीटीसी ने बुकिंग शुरु कर दी है। यह ट्रेन 8 अक्टूबर को रीवा से रवाना होगा, जो विभिन्न तीर्थ स्थलों से होते हुए वापस आएगी। आईआरसीटीसी भोपाल के क्षेत्रीय प्रबंधक के.के सिंह ने बताया इसके के लिए यात्रियों को 8 हजार 505 रुपये प्रति व्यक्ति स्लीपर श्रेणी और 10 हजार 395 रुपये प्रति व्यक्ति एसी 3 का खर्च उठाना होगा।

उन्होंने बताया कि इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने भारत दर्शन विशेष पर्यटक ट्रेनों का संचालन पूरे देश में शुरू कर दिया है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश के तीर्थ यात्रियों के लिए आईआरसीटीसी 8 अक्टूबर को रीवा से भारत दर्शन विशेष पर्यटक ट्रेन वैष्णो देवी के साथ उत्तर दर्शन यात्रा के लिए रवाना की जाएगी। यह ट्रेन मध्य प्रदेश के रीवा, सतना, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, इटारसी, होशंगाबाद, हबीबगंज, विदिशा, गंजबासौदा, बीना स्टेशनों एवं उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी स्टेशन से होते हुए जाएगी, जहां से यात्री इस ट्रेन पर सवार हो सकेंगे। 8 रातें और 9 दिनों की इस यात्रा में आगरा, मथुरा, हरिद्वार, ऋषिकेश, अमृतसर और वैष्णो देवी के धार्मिक स्थलों का भ्रमण कराया जाएगा। इसके लिए यात्रियों को 8 हजार 505 रुपये प्रति व्यक्ति स्लीपर श्रेणी और 10 हजार 395 रुपये प्रति व्यक्ति एसी 3 का खर्च उठाना होगा। इस ट्रेन में 12 स्लीपर एवं एक वातानुकूलित तृतीय श्रेणी होंगी। टिकट शुल्क में ही यात्रियों के चार लाख रुपये का दुर्घटना इंश्योरेंस भी शामिल रहेगा।उन्होंने बताया कि इस धार्मिक यात्रा के लिए आईआरसीटीसी द्वारा गैर, वातानुकूलित सड़क परिवहन दोपहर और रात का शाकाहारी भोजन सहित धर्मशाला डोरमेट्री, हॉल में रात विश्राम स्नान की सुविधाएं पर्यटन स्थलों का भ्रमण यात्रा अनुरक्षक और निजी सुरक्षा व्यवस्था का पैकेज शामिल किया है।

यात्रियों को अपनी निजी इस्तेमाल करने योग्य सामान एवं दवा आदि साथ ले जाना होगा। कोविड-19 को लेकर एहतियात के चलते भारत सरकार द्वारा उल्लेखित सभी सावधानियों का यात्रा के दौरान ध्यान रखा जाएगा। कोच शौचालय से लेकर यात्रियों के सामानों तक को सैनिटाइज किया जाएगा। सैनिटाइजर मास्क और फेस शील्ड भी श्रद्धालुओं को मुक्त दिए जाएंगे। यात्रा के दौरान मास्क एवं आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य होगा। इस ट्रेन की बुकिंग शुरु हो चुकी है। पर्यटक इसकी बुकिंग आइआरसीटीसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन व अधिकृत एजेंट से भी करा सकते है।

रेलवे स्पेशल विशेष ट्रेन से कराएगी ज्योतिर्लिंग दर्शन

धार्मिक व दर्शनीय स्थलों पर घूमने की चाह रखने वालों के लिए भारतीय रेलवे एक खास पैकेज लेकर आया है। मात्र 12 हजार 285 रुपये में सात ज्योतिर्लिंग दर्शन कर सकते हैं। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने पर्यटकों के लिए विशेष पर्यटन योजना तैयार की है।कोरोना बीमारी को देखते हुए अबकी बार ज्योतिर्लिंग दर्शन यात्रा ट्रेन में कोविड-19 की सभी गाइडलाइन की पालना करनी होगी। सभी यात्रियों के पास फेस मास्क और मोबाइल में आरोग्य सेतु एप होना अनिवार्य है। विशेष स्पेशल ट्रेन का नाम ज्योतिर्लिंग दर्शन यात्रा ट्रेन रखा गया है। पर्यटक ट्रेन 24 सितंबर को ज्योतिर्लिंग दर्शन के लिए गोरखपुर से रवाना होकर झाँसी सहित निर्धारित किए गए 10 स्टेशनों के पैसेंजरों को लेकर जाएगी। ट्रेन की बुकिंग 24 सितंबर से पहले ही करवानी अनिवार्य है। 12,285 रुपयों में यात्रा को भोजन, इंश्योरेंस व आवास की व्यवस्था इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ही देगी।

इन स्थानों के कराए जाएंगे दर्शन

सात ज्योतिर्लिंगों में महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, भीमाशंकर, त्र्यंबकेश्वर, घृष्णेश्वर, सोमनाथ एवं नागेश्वर के दर्शन कराए जाएगे। इसके अतिरिक्त द्वारका में द्वारकाधीश मंदिर, अहमदाबाद में साबरमती आश्रम, पर्ली बैजनाथ एवं बड़ौदा में स्टैचू ऑफ यूनिटी के भी दर्शन कराए जाएंगे। यात्रा आईआरसीटीसी के वेबसाइट पर जाकर विशेष ट्रेन पर लागइन करके अपनी सीट ऑनलाइन बुक कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...