झांसी में एंबुलेंस में गूंजी किलकारी:अस्पताल जाते समय प्रसव पीड़ा होने पर ईएमटी ने ड्राइवर की मदद से कराई सुरक्षित डिलेवरी

झांसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झांसी में एंबुलेंस में प्रसव पीड़ा होने पर सुरक्षित डिलेवरी करवाई गई। - Dainik Bhaskar
झांसी में एंबुलेंस में प्रसव पीड़ा होने पर सुरक्षित डिलेवरी करवाई गई।

झांसी में 102 एंबुलेंस में किलकारी गूंज उठी। प्रसव पीड़ा होने पर एंबुलेंस घर से गर्भवती महिला को लेकर अस्पताल जा रही थी। रास्ते में प्रसव पीड़ा तेज होने पर ईएमटी ने एंबुलेंस रुकवाकर ड्राइवर की मदद से सुरक्षित प्रसव कराया। जच्चा और बच्चे को जिला महिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दोनों ही स्वस्थ्य हैं।

10 मिनट में पहुंच गई थी एंबुलेंस

108-102 एंबुलेंस सर्विस प्रभारी नीलेश कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि मंगलवार रात करीब 1 बजे मिशन कंपाउंड निवासी नीलम (32) पत्नी हेमंत ने प्रसव पीड़ा होने पर 102 पर एंबुलेंस के लिए फोन किया था। करीब 10 मिनट में जिला महिला अस्पताल की 102 एंबुलेंस उनके घर पहुंच गई।

एंबुलेंस नीलम को लेकर महिला अस्पताल आ रही थी। बीकेडी चौराहे के पास प्रसव पीड़ा बढ़ गई। तब ईएमटी प्रवेश कुमार और चालक अरुण तिवारी ने एंबुलेंस रोककर महिला की सुरक्षित डिलेवरी कराई। डिलेवरी होने के बाद प्रसूता और नवजात बच्चे को जिला महिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। दोनों स्वस्थ्य हैं। नीलम ने बेटे को जन्म दिया है।

दोनों को दिया जाएगा पुरस्कार

प्रभारी नीलेश कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि ईएमटी और चालक की सूझबूझ से एक महिला की सुरक्षित डिलेवरी हो गई। दोनों ने उत्कृष्ट कार्य किया है। इसके लिए उनको सर्टिफिकेट दिया जाएगा और पुरष्कृत भी किया जाएगा।