झांसी... गोली लगने से हुई थी युवक की मौत:भाभी से थे अवैध संबंध, इसलिए चचेरे बड़े भाई ने की थी हत्या

झांसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक अशोक कुमार निरंजन का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मृतक अशोक कुमार निरंजन का फाइल फोटो।

झांसी के उल्दन थाना क्षेत्र में लावारिश शव की शिनाख्त होने के बाद पोस्टमार्टम में हत्या की पुष्टि हुई है। पिता का आरोप है कि बेटे के अपनी चचेरी भाभी के साथ अवैध संबंध थे। भाभी कोर्ट मैरिज करने और प्लाट लेने का दबाव बना रही थी। जिसकी जानकारी उसके पति को हो गई। इसलिए पति ने सिर में गोली मारकर हत्या की है। षड़यंत्र में भाभी को भी शामिल बताया है। उल्दन पुलिस ने दंपति पर हत्या का केस दर्ज करके पति को हिरासत में लिया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है, जबकि भाभी फरार है।
पत्नी की मौत के बाद भाभी से बने संबंध
मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले के गांव सतवारा निवासी अरुण कुमार निरंजन ने बताया कि बड़े बेटे अशोक कुमार निरंजन (38) की पत्नी द्रौपदी करीब 3 साल पहले मौत हो गई थी। इसके बाद अशोक के अपनी चचेरे भाभी साधना के साथ अवैध संबंध हो गए। अब वह प्लाट खरीदने औैर कोर्ट मैरिज करने का दबाव बना रही थी। जिसकी जानकारी साधना के पति देवकीनंदन उर्फ बबलू को हो गई थी।
शादी से अपने साथ ले गया और कर दिया मर्डर
अशोक की बुआ की देवरानी के बेटे मडवा गांव निवासी सोनू की एक दिसंबर को मऊरानीपुर के जयंती पैलेस में शादी थी। अशोक दोस्त की बुलेट लेकर छोटे भाई की पत्नी को लेकर शादी में आया था। इस शादी में देवकीनंदन व उसकी पत्नी भी आई थी। देर रात 2 बजे देवकीनंदक किसी बहाने से अशोक को शादी से बाहर ले गया। सत्यम होटल के पास सिर में गोली मारकर हत्या कर दी।
पिता के साथ तलाश में जुटा था आरोपी
पिता ने बताया कि बेटे से 1 दिसंबर की देर रात 12 बजे तक फोन पर बात हुई थी। इसके बाद कॉल नहीं लगा। शादी के बाद बेटा घर पर नहीं आया तो तलाश की। लेकिन कोई पता नहीं चल पाया। तब देवकीनंदन ने ही बताया कि उल्दन थाना एरिया में एक शव मिला है। 3 दिसंबर को उल्दन थाना में गए और शव देखा तो बेटा ही था। तब तक आभास नहीं था कि उसका मर्डर हुआ था। शाम होने के कारण पोस्टमार्टम नहीं हो गया। अगले दिन पोस्टमार्टम कराने मऊरानीपुर पहुंचे। तब देवकीनंदन भी साथ था। पोस्टमार्टम में सिर में गोली लगने का खुलासा हुआ। पुलिस वहीं से देवकीनंदन काे उठाकर ले गई।
सीसीटीवी से खुली पोल
पिता ने बताया कि शव की शिनाख्त होने के बाद पुलिस ने विवाह घर के पास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की। जिसमें अशोक और देवकीनंदन बुलेट से जाते हुए नजर आ रहे हैं। फिर बुलेट लेकर देवकीनंदन अकेला आया। उसने बुलेट शादी समारोह स्थल के बाहर खड़ी नहीं की, उससे दूर दूसरे शादी समारोह स्थल पर खड़ी की।

जहां वह बुलेट खड़ी करते हुए नजर आ रहा है। पिता ने कहा कि संस्कार करने के बाद उन्होंने थाने जाकर शिकायत दी है। पुलिस ने साधना की तलाश में घर पर भी छापा मारा, लेकिन साधना बच्चों को लेकर फरार है।