झांसी में 12वीं की छात्रा पर ब्लेड से हमला:गले-चेहरे पर 31 टांके लगे; दोस्ती का दबाव बना रहा था आरोपी दानिश

झांसी5 महीने पहले

झांसी में सोमवार शाम को युवक ने नाबालिग लड़की का गला रेत दिया। ब्लेड से गर्दन और मुंह पर ताबड़तोड़ 5 से 6 वार किए। इसके बाद मौके से भाग गया। घायल लड़की को सिविल अस्पताल से मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। उसकी हालत गंभीर है। डॉक्टरों ने 31 टांके लगाए हैं। पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी हुई है।

लहूलुहान हालत में पहुंची कोचिंग
अर्चना (काल्पनिक नाम) ग्वालियर रोड की रहने वाली है। वह 12वीं की छात्रा है। रोजाना की तरह सोमवार शाम करीब 4 बजे मिशन कम्पाउंड के पास इंग्लिश की कोचिंग करने जा रही थी। रास्ते में करारी गांव निवासी दानिश खान खड़ा था। उसने लड़की की गर्दन पर ब्लेड से हमला कर दिया।

एक लड़की ने बीच-बचाव कर पीड़िता को बचाया। लहूलुहान हालत में लड़की किसी तरह कोचिंग पहुंची। जहां से टीचर ने अस्पताल पहुंचाया। उसके बाद परिजनों को सूचना दी।

ये तस्वीर आरोपी दानिश की है। बताया जा रहा है कि वह दो साल से लड़की का पीछा कर रहा था।
ये तस्वीर आरोपी दानिश की है। बताया जा रहा है कि वह दो साल से लड़की का पीछा कर रहा था।

पीड़िता की मां बोली- 2 साल से कर रहा परेशान
पीड़िता की मां ने बताया, "दानिश खान बेटी को पिछले करीब दो साल से परेशान कर रहा है। उसने कोचिंग से उसका नंबर हासिल कर लिया था। वह अलग-अलग नंबरों से फोन कर दोस्ती करने के लिए दबाव बनाता था। रोजाना कोचिंग आते-जाते समय उसका पीछा कर छेड़छाड़ करता था।"

झांसी मेडिकल कॉलेज में लड़की का इलाज चल रहा है। हालत गंभीर है।
झांसी मेडिकल कॉलेज में लड़की का इलाज चल रहा है। हालत गंभीर है।

मां ने बताया, "आरोपी धमकी भी देता था। डर के कारण बेटी ने घर में किसी को कुछ नहीं बताया। जब बेटी ने उससे बात करने से मना किया तो उसने हमला कर दिया। दानिश बेटी से करीब 8 से 10 साल बड़ा है।"

पीड़िता के पिता नहीं है। तीन बहनों में वह सबसे छोटी है। एक भाई है।

आरोपी की तलाश में तीन टीमें गठित

इस मामले में कोतवाली थाना प्रभारी निरीक्षक तुलसीराम पांडेय का कहना है कि घटना की जानकारी मिलते ही घटना स्थल का जायजा लिया गया। आरोपी दानिश की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें बनाई गई है। जो उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही हैं।