पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ललितपुर में भूख का दंश:पति है दिव्यांग, दो दिन से भूखा था परिवार...आर्थिक तंगी के वजह से 11 माह की बच्ची को लेकर कुएं में कूद गई मां

ललितपुरएक महीने पहले
बच्चों की भूख देखी नहीं गई तो मां ने बच्ची के साथ कुएं में छलांग मार दी

ललितपुर में दो दिन से भूखे परिवार को जब एक मां नहीं देख पाई तो अपनी 11 महीने की बेटी के साथ कुएं में छलांग लगा दी। महिला का पति दिव्यांग है और लॉकडाउन में काम भी नहीं मिला जिसके चलते परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया था। परेशान महिला ने बच्ची के साथ कुएं में छलांग लगा दी, मनीमत रही कि लोगों ने दोनों के समय रहते रेस्क्यू कर लिया।

दो दिन से भूखा था परिवार
थाना सौजना के ग्राम लरगन ग्राम पंचायत के मजरा बंगारुआ निवासी 25 वर्षीय कुसुम अहिरवार का पति सुरेश अहिरवार दिव्यांग है और उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। बताया जा रहा है कि परिवार को दो दिन अन्न का एक दाना भी नसीब नहीं हुआ था। जिसके बाद परेशान होकर बुधवार की दोपहर को कुसुम अपनी दो बेटियों में से 11 माह की एक बेटी को साथ लेकर घर से चली गई और ग्राम भदौरा में स्थित पेट्रौल पम्प के निकट एक कुएं में बच्ची को लेकर कूद गई। राहगीरों ने जब महिला को कुएं में कूदते देखा तो तत्काल वह भी कुएं में कूद गए और महिला सहित मासूम बच्ची को बचा लिया।

'न मायके में सुख मिला न ससुराल में'
कुसुम ने बताया कि गरीबी, बेबसी और अभावों में उसने अपना पूजा जीवन काट दिया। न उसे मायके में सुख मिला और न ही ससुराल में। कुसुम कहती हैं कि सोचा था कि ससुराल में सुख मिल जाएगा लेकिन यहां भी हालात वैसे ही बने रहे। सुमन का उसका पति दिव्यांग है और आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। परेशान होकर वो कुएं कूद गई।

पति दिव्यांग है...कमाई का कोई ज़रिया नहीं
ग्रामीणों ने बताया कि महिला का पति पैर से दिव्यांग है। वह तीन भाइयों में दूसरे नम्बर का है। उसके पिता के नाम तीन एकड़ जमीन है। उसी से तीनों भाई गुजर बसर कर रहा हैं। कुछ ग्रामीणों का कहना है कि कुसुम का मानसिक संतुलन भी थोड़ा गड़बड़ है ।

पुलिस ने परिवार को दिया राशन
शुक्रवार को थानाध्यक्ष सौजना सत्य प्रकाश शर्मा ने महिला कुसुम के घर जाकर आर्थिक मदद के रूप में रुपए ,खाद्यान्न सामग्री व कपड़े दिए हैं। इधर थानाध्यक्ष सौजना सत्य प्रकाश शर्मा ने बताया कि वह मौके पर पहुंच गए थे और महिला को समझाया और घर भेजा था।

खबरें और भी हैं...