6 महीने तैयारी, फिर घनाराम ग्रुप पर छापा:झांसी में CA के घर तिजोरी खोल नहीं पाए तो आयकर विभाग के अफसर कानपुर ले गए

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झांसी में घनाराम इंफ्रा ग्रुप और इससे जुड़े बिल्डरों पर रेड की तैयारी आयकर विभाग यानी IT की इन्वेस्टिगेशन विंग 6 महीने से कर रही थी। IT टीम कई बार झांसी आई। उसने ग्रुप के निदेशक बिशुन सिंह यादव और उनके भाई सपा के पूर्व MLC श्याम सुंदर सिंह यादव के ठिकानों की जानकारी जुटाई।

यहां तक कि उनके और बिल्डरों के घरों की फोटो तक ले गई थी। टीम को यह तक पता था कि घर में किस वक्त कौन रहता है। यही वजह है कि 3 अगस्त की सुबह करीब 5 बजे IT की टीमें झांसी में सीधे 10 ठिकानों पर पहुंच गईं। सोमवार को भी 6 दिन से चल रही जांच पूरी नहीं हो पाई। मंगलवार यानी आज इसके पूरी होने की बात कही जा रही है।

झांसी में छापे के दौरान आपस में बातचीत करते आयकर विभाग की टीम के सदस्य।
झांसी में छापे के दौरान आपस में बातचीत करते आयकर विभाग की टीम के सदस्य।

रेड की झांसी IT तक को जानकारी नहीं थी
छापामार कार्रवाई इतनी गोपनीय रखी गई कि झांसी आयकर विभाग के अफसरों तक को इसकी खबर नहीं थी। रेड के बाद ही अफसरों को बताया गया। स्थानीय पुलिस को भी नहीं बताया गया था। लखनऊ और कानपुर से आई IT टीमें अपने साथ ही पीएसी के जवान साथ लेकर आई थी। पीएसी के जवानों को भी खबर थी कि रेड मारने जा रहे हैं, लेकिन यह नहीं पता था रेड कहां और किसके घर पर पड़ने वाली है।

ग्राइंडर मशीन से नहीं कटी तिजोरी
जानकीपुरम के सीए दिनेश सेठी के घर पर भी छापा पड़ा था। सेठी मॉर्निंग वॉक पर गए थे। बाकी परिजन घर से बाहर थे। जब उन्हें पता घर पर IT की टीम पहुंच गई। इसके बाद वे घर नहीं लौटे। बाद में पता चला कि वे दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं। 3 दिन इंतजार के बाद IT टीम ताले तोड़कर घर के अंदर दाखिल हो गई।

आयकर विभाग ने सीए दिनेश सेठी के घर को सील कर दिया और तिजोरी उखाड़कर अपने साथ ले गई।
आयकर विभाग ने सीए दिनेश सेठी के घर को सील कर दिया और तिजोरी उखाड़कर अपने साथ ले गई।

घर में एक तिजोरी रखी थी। तिजोरी की चाबी नहीं बनी, तो ग्राइंडर मशीन से काटने की कोशिश की गई। मगर, उसकी पत्ती भी बार-बार मुड़ रही थी। जब तिजोरी नहीं कटी, तो टीम उसको उखाड़कर कानपुर ले गई। अब तिजोरी खोलने की कोशिश की जा रही है।

झांसी में कैंप ऑफिस बनाया
कानपुर जोन के जोनल डायरेक्टर इन्वेस्टिगेशन अतुल कुमार के नेतृत्व में IT टीमें झांसी पहुंचीं। इलाइट चौराहे के पास आयकर विभाग के दफ्तर को कैंप ऑफिस बनाया गया। यहां से जोनल डायरेक्टर सभी टीमों को लीड कर रहे हैं।