झांसी में सवा 9 करोड़ के गहने और कैश मिला:आयकर विभाग को टैक्स चोरी के सबूत मिले, घनाराम ग्रुप और बिल्डरों पर जांच जारी

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झांसी में घनाराम इंफ्रा ग्रुप और इससे जुड़े बिल्डरों के ठिकानों पर चल रही आयकर विभाग की जांच 4 दिन बाद भी पूरी नहीं हो पाई। अब तक की जांच में बिल्डरों के यहां से करीब 6 करोड़ रुपए के गहने और सवा 3 करोड़ रुपए कैश मिला है। साथ ही बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी के सबूत भी हाथ लगे हैं। रविवार को भी आयकर विभाग की जांच जारी रहेगी।

32 ठिकानों पर पड़ा था छापा

झांसी में वीरेंद्र राय के घर पर चल रही आयकर विभाग की जांच शनिवार को पूरी हो गई।
झांसी में वीरेंद्र राय के घर पर चल रही आयकर विभाग की जांच शनिवार को पूरी हो गई।

घनाराम इंफ्रा ग्रुप के निदेशक विशुन सिंह यादव, उनके भाई सपा के पूर्व एमएलसी श्यामसुंदर सिंह यादव और उनसे जुड़े बिल्डरों के 32 ठिकानों पर आयकर विभाग की टीमों ने बुधवार सुबह छापा मारा था। 4 दिन से चल रही जांच अभी दो दिन और जारी रह सकती है।

शनिवार को आयकर विभाग ने बिल्डरों के यहां से एक करोड़ की नकदी बरामद की है। इसके अलावा लॉकरों से करीब 4 करोड़ रुपए गहने बरामद हुए। इससे पहले शुक्रवार को सवा दो करोड़ कैश और दो करोड़ रुपए के जेवरात बरामद किए गए थे, जिन्हें सीज कर दिया गया था।

10 लॉकरों की जांच होना बाकी
आयकर विभाग की टीम के निशाने पर अभी 10 लॉकर और हैं। इसके अलावा बिल्डरों के ठिकानों से बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी के सबूत भी हाथ लगे हैं। कागजों में दूसरे ठेकेदारों से काम कराना और भुगतान करना दर्शाया गया है। इसमें कर चोरी की संभावना के चलते जांच शुरू कर दी गई है। फर्जी बिलिंग के चार साल तक के सबूत मिले हैं। इससे पहले के दस्तावेजों को भी खंगालना शुरू कर दिया गया है। जमीन और फ्लैटों की खरीद-फरोख्त में स्टांप ड्यूटी की चोरी भी सामने आई है।

दो ठिकानों पर जांच पूरी
झांसी में घनाराम ग्रुप के साथ ही बिल्डर्स आनंद अग्रवाल, आईपी भल्ला, राकेश बघेल, सीए दिनेश सेठी, विजय सरावगी, वीरेंद्र राय, संजय अरोड़ा, शिवा सोनी, एसके जैन के ठिकानों पर छापा पड़ा था। शनिवार को वीरेंद्र राय और एनके जैन के ठिकानों से आयकर विभाग की टीम रवाना हो गई हैं। सीए दिनेश सेठी के घर के शनिवार को ताले तोड़े गए। यहां एक से दो दिन जांच जारी रह सकती है।