तालिबान मसले पर सलमान ने सरकार को घेरा:सरकार को अफगानिस्तान एम्बेसी को बंद नहीं करना चाहिए था; कांग्रेसी लड़खड़ा रहे हैं लेकिन खड़ा होने का प्रयास कर रहे हैं : सलमान खुर्शीद

झांसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सलमान खुर्शीद ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद एंबेसी को बंद कर दिया गया जबकि इसे बंद नहीं किया जाना चाहिए था। - Dainik Bhaskar
सलमान खुर्शीद ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद एंबेसी को बंद कर दिया गया जबकि इसे बंद नहीं किया जाना चाहिए था।

आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपनी जमीन को तलाशने की कोशिश में लगी कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने वीरांगना की नगरी झांसी में शनिवार को कहा कि हम प्रदेश में लड़खड़ा जरूर गए लेकिन फिर भी खड़ा होने का प्रयास कर रहे हैं यह महत्वपूर्ण है कि लड़खड़ाने के बाद भी साथ है. सलमान खुर्शीद ने अफगानिस्तान के मसले पर केंद्र सरकार को घेरते हुए सरकार पर समय से सचेत ना होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद एम्बेसी को बंद कर दिया गया जबकि इसे बंद नहीं किया जाना चाहिए था।

कांग्रेसी पार्टी का आधार लड़खड़ा गया है

कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र पर लोगों से संवाद करने वीरांगना नगर झांसी पहुंचे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने सर्किट हाउस में पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए माना कि उनकी पार्टी का आधार लड़खड़ा गया है जिसे संभालने के लिए पार्टी लगातार प्रयासरत है सवाल के जवाब के बीच पार्टी छोड़कर गए नेताओं पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग ज्यादा लड़खड़ा गए वह पार्टी छोड़कर चले गए और एस कर रहे हैं हम नहीं गए क्योंकि पार्टी ने हमारे बहुत कुछ किया है और बुरे समय में हम पार्टी को नहीं छोड़ सकते हमारी जिम्मेदारी है कि पार्टी को इस बुरे दौर से बाहर निकाले।

तालिबान पर र विश्वास नहीं करना चाइए

अफगानिस्तान में भारतीयों को निकालने के लिए सरकार को सभी संभव प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस मसले पर विपक्ष को प्रदेश की जनता को पूरी जानकारी नहीं दी है। उन्होंने कहा कि सरकार यह स्पष्ट करें कि कतर में सरकार ने क्या तालिबान से बात की है अगर तालिबान से बात किए तो क्या बात की है ।अफगानिस्तान के मामले में जानकारी नहीं दी जा रही है। अफगानिस्तान में जो घटना क्रम घटित हुआ है उससे भारत की नीति की क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय का मामला है ।उन्होंने कहा कि रूस में इस मसले पर बैठक हुई लेकिन भारत को नहीं बुलाया गया। उन्होंने कहा कि तालिबान को किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं कर सकते हैं। तालिबान ने भले ही सरकार बना ली हो लेकिन उस पर विश्वास नहीं किया जा सकता है । जिस तरह से वहां आम जनता का उत्पीड़न किया जा रहा है तथा हिंसा की घटनाएं हो रही है उसका किसी भी स्थिति में समर्थन नहीं किया जा सकता ।

तालिबान मसले पर सरकार ने क्या किया बताना चाइए

उन्होंने कहा कि यूएनएससी की बैठक में तालिबान के मसले को नहीं उठाया गया यह सब चीन के दबाव में किया गया ।उन्होंने कहा कि पंचशील में एयर स्ट्राइक की वह निंदा करते है। पाकिस्तान का समर्थन देश के लिए नुकसानदेह है। उन्होंने कहा कि कतर में सरकार ने तालिबान से क्या बात की है सरकार स्पष्ट करे । उन्होंने कहा कि भारत हमेशा नॉर्दन एलायंस का समर्थन किया है वहां पर दवा व ट्रेनिंग आदि देकर उसकी मदद की जा सकती है। सरकार को हामिद करजई जैसे लोगों से बात करना चाहिए। यह सरकार को देश के सामने बताना पड़ेगा

वहीं कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जुलाई 21 को सरकार से कहा था कि तालिबान अफगानिस्तान में लगातार कब्जा कर रहा है और आगे बढ़ रहा है उन्होंने संसद की स्थाई समिति में भी इस मामले को उठाया था लेकिन सरकार ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया एक सवाल के जवाब में सलमान खुर्शीद ने कहा कि कोरोना काल में युवा कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ताओं ने जनता की मदद की । कोरोना के मामले पर सरकार पर सवालिया निशान लगाते है, क्या गंगा में लाशे तैरना चाहिए थी यह गंभीर विषय है उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले में सरकार के मिस मैनेजमेंट की रिपोर्ट कांग्रेस जनता के सामने पेश करेगी।

घोषणा पत्र समाज के सभी वर्ग के लोगो की राय से बनेगा

पूर्व विदेश मंत्री ने कहा कि समाज के सभी वर्गों की राय से कांग्रेस का घोषणा पत्र तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश की जनता गरीबी महंगाई बेरोजगारी से त्रस्त है पेट्रोल डीजल की कीमतों की लगातार वृद्धि हो रही है आम जनता का जीवन दूभर हो गया है इसी मसले पर आगामी विधानसभा चुनाव होगा कांग्रेस की ओर से चेहरे को लेकर सलमान खुर्शीद का कहना था कि कांग्रेस में गैरों की कमी नहीं प्रियंका गांधी के मुख्यमंत्री पद के दावेदार के संबंध में उनका कहना था यह उस सवाल उन्हीं से पूछा जाना चाहिए

झांसी के ये कांग्रेसी मौजूद रहे

पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सुधांशु त्रिपाठी राहुल राय राहुल रिछारिया कांग्रेस जिला अध्यक्ष भगवानदास कोरी उत्तर प्रदेश किसान कांग्रेस के अध्यक्ष शिव नारायण सिंह परिहार महानगर अध्यक्ष अरविंद वशिष्ठ,राजेन्द्र शर्मा पूर्व प्रवक्ता मंडल कांग्रेस, मनीराम कुशवाहा, महिला कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष नीता अग्रवाल व कांग्रेस के सभी प्रमुख नेता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...