झांसी में कोरोना के 48 केस मिले:11 साल की बच्ची व मां की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, नर्सिंग कॉलेज में 5 स्टूडेंट समेत 7 संक्रमित

झांसी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक चित्र। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक चित्र।

झांसी में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। शनिवार को 48 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसमें खातीबाबा एरिया में रहने वाली 11 साल की बच्ची और उसकी मां कोरोना की चपेट में आ गई। जबकि सीपरी बाजार के एक नर्सिंग कॉलेज के 5 स्टूडेंट समेत 7 लोग संक्रमित मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम कॉलेज में एंटीजन किट से जांच करने गई थी। इसके अलावा 15 साल का किशोर और उसकी मां भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

3998 सैंपल लिए गए

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शनिवार को कोरोना के 3998 सैंपल लिए गए। जिसमें आरटीपीसीआर जांच के लिए 2029, टूनेट के लिए 5 और एंटीजन जांच के लिए 1964 सैंपल लिए गए। जबकि एक मरीज ने कोरोना को हरा दिया। अब एक्टिव केस बढ़कर 196 पहुंच गए। इसमें 3 मरीज मेडिकल कॉलेज और 19 आर्मी अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि 162 लोग होम आइसोलेशन में रहकर दवा ले रहे हैं। इसके अलावा 12 लोग अन्य राज्यों में भर्ती है। लगातार केस बढ़ने से रिकवरी रेट गिरकर 97.66 प्रतिशत पहुंच गया।

कोरोना को लेकर सीडीओ ने ली बैठक

सीडीओ एवं कार्यवाहक डीएम शैलेष कुमार ने कोरोना को लेकर आईसीसीसी में समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा कि जिन मरीजों में कोरोना के लक्षण हैं, उन्हें होम आइसोलेशन में रखकर इलाज किया जाए। साथ ही उनकी मॉनिटरिंग भी की जाए। कोमॉर्बिड मरीजों, बुजुर्गों और बच्चे कोरोना की चपेट में आते हैं तो उन्हें तुरंत मेडिसन किट उपलब्ध कराई जाए।

मिनी कंटेनमेन्ट जोन और कंटेनमेन्ट जोन बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन 4500 टेस्टिंग की जानी है। जिसमें 3000 आरटीपीसीआर व 1500 एंटीजन टेस्टिंग शामिल है। आईसीसीसी में डॉक्टर्स तैनात रहें, ताकि लोगों को टेली कन्सल्टेशन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

खबरें और भी हैं...