• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • Police Strategy In UP Election 2022, The Leaders Could Not Distribute Money To The Voters, So Would Coordinate With The Banks, Monitor The Smugglers From Now On

यूपी इलेक्शन 2022 में पुलिस की रणनीति:नेता वोटरों को रुपए न बांट सके, इसलिए बैंकों से समन्वय बनाएगी पुलिस, तस्करों पर निगरानी अभी से

झांसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झांसी डीआईजी जोगेंद्र कुमार। - Dainik Bhaskar
झांसी डीआईजी जोगेंद्र कुमार।

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले ही पुलिस ने रणनीति बनाई है। जिसके तहत नेता वोटरों को रुपए न बांट सके, इसलिए पुलिस स्थानीय बैंकों से समन्वय बनाएगी। भारी भरकम अमाउंट निकालने पर पुलिस को जानकारी होगी। मामला संदिग्ध होने पर जांच होगी। जरूरत पड़ने पर इनकम टेक्स को सूचना दी जाएगी। यह सब पिछले चुनावों में रुपए बंटने की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया गया है।

पड़ोसी राज्य के तस्कर भी होंगे राडार पर

झांसी डीजीआई जोगेंद्र कुमार ने बताया कि अपराध व अपराधियों पर अंकुश लगाकर आगामी विधानसभा चुनाव सकुशल संपन्न कराए जाएंगे। इस संबंध में डीजी मुख्यालय से प्राप्त निर्देशों की अनुपालना में 14 बिंदुओं पर कार्रवाई करने के लिए झांसी, ललितपुर और जालौन एसएसपी को निर्देश दिए हैं।

पूर्व में पकड़े जा चुके अवैध शराब, नशीले पदार्थ और अवैध हथियार की तस्करी करने वाले अपराधियों पर अभी से निगरानी रखी जाएगी। इसके अलावा पड़ोसी राज्य के तस्कर भी यूपी पुलिस की राडार पर रहेंगे। इसके लिए पड़ोसी राज्य की पुलिस से ऐसे अपराधियों की लिस्ट ली जाएगी।
चोर रास्तों को करेगी चिहिन्त
डीआईजी जोगेंद्र ने निर्देश दिए कि चुनाव से पहले ही तीनों जिलों की पुलिस अपने एरिया के चोर रास्तों को चिहिन्त करें। जहां से अपराधियों व तस्करों के आवागमन की आशंका हो। लाइसेंस शस्त्र धारकों के शत-प्रतिशत सत्यापन के लिए डीएम से समन्वय स्थापित कर जल्द से जल्द स्क्रीनिंग कमेटी का गठन कराया जाए। दुकानदारों द्वारा इस साल तक बेचे गए हथियारों व कारतूसों का सत्यापन कराया जाए। इसके लिए एसडीएम व सीओ की संयुक्त टीम का गठन कराकर 15 दिन विशेष अभियान चलेगा।