झांसी...पीएम की रैली से पहले विधायक का शक्ति प्रदर्शन:मुरली मनोहर मंदिर से 250 साल पुराने लक्ष्मी मंदिर तक निकाली समृद्धि यात्रा

झांसी22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
झांसी में सदर विधायक रवि शर्मा ने शनिवार को समृधि यात्रा निकाल कर शक्ति प्रदर्शन किया। - Dainik Bhaskar
झांसी में सदर विधायक रवि शर्मा ने शनिवार को समृधि यात्रा निकाल कर शक्ति प्रदर्शन किया।

यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव हैं। 12 दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रानी लक्ष्मीबाई की जयंती पर झांसी आ रहे हैं। ऐसे में पीएम की रैली से पहले सदर विधायक रवि शर्मा ने शनिवार को समृधि यात्रा निकाल कर शक्ति प्रदर्शन किया।

बड़ा बाजार स्थित मुरली मनोहर मंदिर से शुरू हुई यह यात्रा करीब डेढ़ घंटे तक शहर में घूमी। फिर 250 से ज्यादा साल पुराने लक्ष्मी मंदिर पहुंची। जहां पर विधायक ने परिवार के साथ महा आरती की और देवी मां को पोषाक भी चढ़ाई। मंदिर में भंडारा किया गया।

उन्होंने इस यात्रा के लिए सभी पार्षदों, सभी संस्थाओं को आमंत्रित किया था। झांसी के महानगर धर्माचार्य हरिओम पाठक, बसंत गोलवलकर, लल्लन महाराज, मनोज थापक व अन्य धर्माचार्य की अगुवाई में यात्रा शुरू हुई। शहरवासियों ने अपने घरों की छतों से पुष्प वर्षा की। यात्रा में बैंड-बाजों व डीजे की धुनों पर श्रद्धालुओं ने नृत्य भी किया। यात्रा में घोड़ों पर सवार द्वारपाल आकर्षण का केंद्र रहे।

देश में तीसरा प्राचीन लक्ष्मी मंदिर, लेकिन लोग जानते नहीं

विधायक ने कहा कि 250 से ज्यादा साल पुराना लक्ष्मी मंदिर देश का मुंबई व कोल्हापुर के बाद तीसरा प्राचीन व सिद्ध मंदिर है। जिसे शहर के कम ही लोग जानते हैं। शहर की 7 से 8 लाख आबादी में कुल 5 प्रतिशत लोग ही मंदिर आते हैं। दिवाली पर हम लक्ष्मीजी की पूजा करते हैं। मुझे लगता था कि लोगों की जानकारी बढ़े और ज्यादा भक्त आएं। इसलिए यात्रा निकाली गई।

मंदिर में रानी लक्ष्मीबाई पूजा करने आती थीं

धर्माचार्य हरिओम पाठक ने बताया कि जब झांसी का किला बना था। उसी के साथ गणेश मंदिर, मुरली मनोहर मंदिर और लक्ष्मी मंदिर का निर्माण हुआ था। पुराने लोग कहते हैं कि किला तीनों मंदिरों तक सुरंग है। रानी लक्ष्मीबाई का इसी सुरंग से पूजा करने तीनों मंदिरों में आती थी। सुरंग आज भी है।