• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • Railway Overbridge Will Be Ready On Jhansi Gwalior Road In Two And A Half Years, 994 Meter Long Overbridge Will Be Built At A Cost Of 102 Crores, MP Laid Foundation Stone

झांसी-ग्वालियर रोड पर ढाई साल में तैयार होगा रेलवे ओवरब्रिज:994 मीटर लंबा ओवरब्रिज 102 करोड़ की लागत से बनेगा, सांसद ने किया शिलांयास

झांसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे ओवरब्रिज के शिलांयास समारोह के दौरान भूमि पूजन करते सांसद, विधायक व मेयर। - Dainik Bhaskar
रेलवे ओवरब्रिज के शिलांयास समारोह के दौरान भूमि पूजन करते सांसद, विधायक व मेयर।

आखिरकार लंबे समय बाद झांसी-ग्वालियर रोड पर सिद्धेश्वर मंदिर के पास रेलवे ओवरब्रिज की मांग पूरी हो गई। यह ओवरब्रिज 994 मीटर लंबा होगा और इसके बनाने पर करीब 102 करोड़ रुपए खर्च होंगे। उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम ओवरब्रिज का निर्माण करवाएगा। जो ढाई साल में बनकर तैयार हो जाएगा।

गुरुवार को ओवरब्रिज का शिलांयास किया गया। सांसद अनुराग शर्मा ने भूमि पूजन किया। उनके साथ महापौर रामतीर्थ सिंघल और सदर विधायक रवि शर्मा भी थे। यह रेलवे ओवरब्रिज 4 लाइन का बनाया जाएगा। सरकार ने 21 दिसंबर को ही इसके लिए राशि स्वीकृति की थी।
सांसद बोले- स्वीकृति मिलना किस्मत की बात, मंत्रीजी जान पहचान के थे
शिलांयास समारोह में सांसद अनुराग शर्मा ने कहा कि ये ओवरब्रिज झांसी के लिए कभी चिन्हित नहीं था। रेलवे के बजट में भी नहीं था। लेकिन हम लोग प्रयास कर रहे थे। किस्मत की बात है कि मंत्रीजी जान पहचान के निकल आए। दाे बार आग्रह किया और तीसरी बार उन्होंने फाइल पास कर दी।

4 लाइन का ओवरब्रिज 30 माह में बनकर पूरा हो जाएगा। अगर 30 माह में पूरा नहीं हुआ तो किसी को आड़े हाथ लेना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अब हंसारी रेलवे ओवरब्रिज के लिए प्रयास कर रहे हैं। उम्मीद है कि अगले रेलवे बजट में उसे भी स्वीकृति मिल जाएगी।
झांसी के लोगों के लिए बड़ी सौगात
विधायक रवि शर्मा ने कहा कि यह रेलवे ओवरब्रिज झांसी व आसपास के जिलों के लोगों के लिए बड़ी सौगात है। जब ट्रेन की क्रॉसिंग होती थी तो झांसी के लोग बंधक हो जाते हैं। दो-दो घंटे गेट खुलने का इंतजार करना पड़ता है।

लोगों को ये राहत मिलेगी

इस ओवरब्रिज के लिए लंबे समय से मांग हो रही थी। एक दिन में करीब 80 बार रेलवे फाटक बंद होते हैं, इससे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। सबसे ज्यादा परेशानी झांसी से ग्वालियर रेफर होने वाले मरीजों को होती थी। फाटक बंद होने से एंबुलेंस व अन्य वाहन घंटो खड़े रहते थे। अब ओवरब्रिज का निर्माण होने से काफी लाभ मिलेगी। बिना रुके लोग आवागमन कर सकेंगे। सबसे ज्यादा मरीजों काे फायदा होगा।