झांसी स्टेशन का नाम बदलने पर गरमाई सियासत:पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य बोले- झांसी हमारी मां है, वीरांगना लक्ष्मीबाई के नाम के आगे इसे जुड़वाकर रहेंगे

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन की फोटो। - Dainik Bhaskar
पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन की फोटो।

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने पर भाजपा पर निशाना साधा। कहा कि झांसी हमारी मां है। इस नाम को हम खोने नहीं देंगे। वीरांगना लक्ष्मीबाई के साथ झांसी शहर का नाम जुड़वाकर ही रहेंगे। इसको लेकर अगर मेरे ऊपर केस दर्ज होते हैं तो मुझें उसकी परवाह नहीं है। मुझें चाहे फांसी पर क्यों न चढ़ा दिया जाए, लेकिन नाम जुडवाएं बिना हम पीछे नहीं हटेंगे।

उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव से पहले झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन करना भाजपा की सोची समझी रणनीति का हिस्सा है।

ये दल का नहीं, दिल का मुद्दा है

पूर्व मंत्री ने कहा कि ये दल का नहीं, दिल का मुद्दा है। इसलिए हम केवल कांग्रेस का मुद्दा नहीं बनाना चाहते। हम चाहते हैं कि सारे राजनैतिक दल व संठगन इस मुहिम से जुड़े। इसके लिए झांसी बचाओ आंदोलन समिति बनाकर बड़े स्तर पर आंदोलन शुरू कर रहे हैं। जल्द ही सर्वदल की बैठक होगी। जब तक नाम नहीं जुड़ेगा, तब तक आंदोलन चलता रहेगा।

सांसद के घर के बाहर देंगे धरना

उन्होंने कहा कि झांसी को मुगलों ने नाम नहीं दिया था। ये 500 साल पुराना नाम है। लेकिन जाते हुए साल में झांसी ही नहीं, बल्कि पूरे देश को झटका लगा है। जो काम अंग्रेज नहीं कर पाए, भाजपा सरकार ने कर दिया। झांसी मां है और लक्ष्मीबाई बेटी। अब मां-बेटी को जुदा कर दिया। अगर भाजपा से भूल हुई है तो स्वीकार करें और वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन के बाद झांसी शब्द को जोड़ दें। सांसद इसके लिए पहल करें। अगर उन्होंने कुछ नहीं किया तो हम उनके घर के बाहर धरने पर बैठेंगे।

सांसद के घर के बाहर देंगे धरना
पूर्व मंत्री ने कहा कि झांसी को मुगलों ने नाम नहीं दिया था। ये 500 साल पुराना नाम है। लेकिन जाते हुए साल में झांसी ही नहीं, बल्कि पूरे देश को झटका लगा है। जो काम अंग्रेज नहीं कर पाए, भाजपा सरकार ने कर दिया। झांसी मां है और लक्ष्मीबाई बेटी। अब मां-बेटी को जुदा कर दिया। अगर भाजपा से भूल हुई है तो स्वीकार करें और वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन के बाद झांसी शब्द को जोड़ दें। सांसद इसके लिए पहल करें। अगर उन्होंने कुछ नहीं किया तो हम उनके घर के बाहर धरने पर बैठेंगे।

प्रसपा ने किया प्रदर्शन

रेलवे स्टेशन से झांसी शब्द हटने के विरोध में किला के गेट पर प्रदर्शन करते प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यकर्ता।
रेलवे स्टेशन से झांसी शब्द हटने के विरोध में किला के गेट पर प्रदर्शन करते प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यकर्ता।

झांसी नाम हटने के विरोध में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) ने रानी लक्ष्मीबाई के किला के गेट पर जाकर प्रदर्शन किया। उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट और डीआरएम काे ज्ञापन सौंपकर स्टेशन में झांसी शब्द जोड़ने की मांग की है। प्रदेश महासचिव दीपमाला कुशवाहा ने कहा कि झांसी को वीरांगना लक्ष्मीबाई से अलग कर हमारी संवेदनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है। हम झांसी से रानी और रानी से झांसी को अलग नहीं होने देंगे। क्योंकि बिना रानी के झांसी और झांसी के बिना रानी अधूरी है। पूरे बुंदेलखंड में आंदोलन किया जाएगा।

भाजपा विधायक रेल मंत्री को भेज चुके हैं पत्र
इससे पहले भाजपा विधायक रवि शर्मा खुद भी रेल मंत्री को पत्र लिखकर सटेशन में झांसी नाम जोड़ने की मांग कर चुके हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश व्यापारी उद्योग मंडल और व्यापारी उद्योग मंडल उत्तर प्रदेश प्रदर्शन कर चुका है।

खबरें और भी हैं...