• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • Students Of The Institute Of Fine Arts Of Bundelkhand University Will Depict Rama's Exile Period On The Walls Of Ayodhya In Bundeli Style

अयोध्या में दिखेंगे 'बुंदेलखंड के राम':बुंदेली शैली में अयोध्या की दीवारों पर उकेरी जाएगी श्रीराम की वनवास यात्रा, बुंदेलखंड के ललित कला संस्थान ने शासन को भेजा प्रस्ताव

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या में सुंदरीकरण के लिए बुंदेलखंड विश्वविद्यालय सहित प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों के ललित कला विभागों ने शासन को अपने प्रस्ताव तैयार कर भेज दिए हैं। - Dainik Bhaskar
अयोध्या में सुंदरीकरण के लिए बुंदेलखंड विश्वविद्यालय सहित प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों के ललित कला विभागों ने शासन को अपने प्रस्ताव तैयार कर भेज दिए हैं।

अयोध्या में सुंदरीकरण के लिए बुंदेली शैली में भगवान राम के जीवन शैली को उकेरा जाएगा। इसके लिए ​​​​बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के ललित कला संस्थान ने श्रीराम द्वारा बुंदेलखंड में बिताए वनवास से जुड़ी पौराणिक कथाओं के चित्रण का प्रस्ताव शासन को भेजा है। शासन की अनुमति के बाद बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के शिक्षक और छात्र अयोध्या जाकर शहर की दीवारों पर चित्रों को उकेरने का काम करेंगे।

शासन ने मांगे थे प्रस्ताव
अयोध्या में सुंदरीकरण के लिए बुंदेलखंड विश्वविद्यालय सहित प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों के ललित कला विभागों ने शासन को अपने प्रस्ताव तैयार कर भेज दिए हैं। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के ललित कला संस्थान ने जो प्रस्ताव भेजा है। उसे 'बुंदेलखंड में राम' का नाम दिया गया है। इसमें भगवान राम के वनवास के दौरान बुंदेलखंड प्रवास से जुड़ी कथाओं को अयोध्या की दीवारों पर उकेरा जाएगा। भगवान राम के चित्रकूट प्रवास से लेकर ओरछा में उनके विराजमान होने तक की पौराणिक कहानियां लोगों को आकर्षित करेंगी जिन्हें प्रस्ताव में शामिल किया गया है।

बुंदेली शैली में होगी चित्रकारी
बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के ललित कला संस्थान की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. श्वेता पांडेय ने बताया कि अयोध्या सुंदरीकरण के लिए शासन से प्रस्ताव मांगा गया था। ललित कला संस्थान के विद्यार्थियों द्वारा अयोध्या की दीवारों को चित्रकारी के लिए चयनित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के ललित कला संस्थान ने अपना प्रस्ताव भेजा है।

बुंदेलखंड के चित्रकूट में रहे भगवान राम
क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी डॉ. सुरेश दुबे ने बताया कि पौराणिक कथाओं के अनुसार राम का जितना नाता अयोध्या से है, उतना ही उनका बुंदेलखंड से भी नाता रहा है। श्रीराम ने बुंदेलखंड के चित्रकूट में प्रवास किया और कई अन्य जगहों पर भ्रमण भी किया। उन्होंने अपना वनवास काल बुंदेलखंड में ही बिताया।

खबरें और भी हैं...