• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • The Soldiers Who Ran Away After Saving Their Lives, Came To The AC Shed Without Permission On The Complaint Of The Usurer, The Soldiers Of Cheetah Mobile

रेलवे एसी शेड में टेक्नीशियन को पकड़ने पर बवाल:जान बचाकर भागे सिपाही, सूदखोर की शिकायत पर बिना अनुमति के एसी शेड में आए थे चीता मोबाइल के सिपाही

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे के सभी कारखानों में चलता है ब्याज पर पैसा - Dainik Bhaskar
रेलवे के सभी कारखानों में चलता है ब्याज पर पैसा

झाँसी। प्रेमनगर थाने की चीता मोबाइल ने एसी शेड के अंदर घुसकर टेक्नीशियन -1 की बेरहमी से पिटाई की। कपड़े फाड़ दिए। इसकी जानकारी मिलते ही शेड में कार्यरत रेलकर्मी इकट्ठा हो गए और उन्होंने एक सिपाही को पकड़ लिया जबकि दूसरा सिपाही जान बचाकर शेड के बाहर की ओर भाग गए। इस मामले को रेलवे अफसर के संज्ञान में लाया गया। उन्होंने आरपीएफ कमांडेंट और एसएसपी झाँसी से मोबाइल फोन पर बात कर घटना के बारे में जानकारी दी। पता चला कि सूदखोर की शिकायत पर चीता मोबाइल बिना अनुमति के एसी शेड के अंदर घुस गई थी। इस घटना को लेकर रेल कर्मचारियों में काफी आक्रोश व्याप्त है। रेलकर्मचारियों ने सूदखोर व दोनों सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

सदर बाजार थाना क्षेत्र के भट्टा गांव निवासी राजेन्द्र कुमार राय प्रेमनगर थाना क्षेत्र में स्थित एसी शेड में टेक्नीशियन-1 के पद पर कार्यरत है। शनिवार को दोपहर के समय दो सिपाही एसी शेड के अंदर गए और शेड के अंदर काम कर रहे राजेन्द्र राय को पकड़ लिया। राजेन्द्र राय से कहा कि सीपरी बाजार थाना क्षेत्र में स्थित राजघाट कालोनी के पास रहने वाले एक युवक ने पैसों के लेन देन की शिकायत की है। इसी बात को लेकर राजेन्द्र राय व सिपाहियों से कहासुनी हो गई। तभी सिपाहियों ने रेल कर्मचारी की पिटाई कर दी। कपड़े फाड़ दिए। इस घटना की जानकारी मिलते ही शेड के दर्जनों रेल कर्मचारी इकट्ठा हो गए। उन्होंने रेल कर्मचारी की पिटाई कर सिपाहियों में एक सिपाही को पकड़ लिया जबकि दूसरा सिपाही शेड के बाहर की ओर भाग गया। बाद में रेल कर्मचारी अपने साथी राजेन्द्र राय और सिपाही को पकड़कर शेड के अफसर के कक्ष में ले गए। वहां रेल कर्मचारियों ने हंगामा किया और कहा कि बिना अनुमति के सिपाही कैसे अंदर आए हैं। ऐसे में रेल कर्मचारियों को जान का खतरा है। यह बात सुनते ही रेलवे अफसर नाराज हो गया और रेल कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि वह आरपीएफ कमांडेंट और एसएसपी से वार्ता करेंगे। इसके बाद रेल कर्मचारियों का गुस्सा शांत हो गया। कुछ देर बाद रेलवे अफसर ने कमांडेंट और एसएसपी से फोन पर वार्तालाप की है। मगर रविवार तक किसी कोई कार्यवाही नहीं हुई।

शेड का रेल कर्मचारीयों ब्याज पर चलाता है पैसा

सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के राजघाट कालोनी में रहने वाली एक महिला और बेटा शेड के अंदर कार्यरत है। महिला का छोटा बेटा ब्याज पर पैसा चलाता है। यह पैसा पत्ती का है। यह पत्ती सीपरी बाजार थाना क्षेत्र में रहने वाले एक व्यक्ति की थी। हालांकि उक्त व्यक्ति की मौत हो चुकी है। इस व्यक्ति पर लाखों रुपया कर्जा था। मृतक ने कइयों से पैसा तो लिया मगर वापस नहीं किया था।

दस दिन पहले रेलकर्मचारी की पत्नी को पीटा

राजेन्द्र राय का कहना है कि वह अपनी पत्नी ममता के साथ घर पर था, तभी शेड में कार्यरत रेल कर्मचारी अपने भाई के साथ उसके घर आया और उससे पैसों की मांग की। उसने कहा कि वह मृतक व्यक्ति को मय ब्याज के पैसा दे चुका है। अब पैसा नहीं दूंगा। इसी बात से नाराज दोनों भाइयों ने उसकी पत्नी से गाली गलौज कर बाइक की चाबी छीन कर ले गए थे। इसकी सूचना सदर बाजार पुलिस से की हैं।

सूदखोर से लिया पैसा, इसलिए शेड में किया प्रवेश

बताया गया कि एक रेल कर्मचारी का छोटा भाई ब्याज में पैसा चलाता है। वह पुलिस कर्मचारियों को पैसा दिया था। इसके बाद दोनों सिपाही शेड के अंदर घुस गए थे। जबकि सिपाहियों को आरपीएफ की चेक पोस्ट से अंदर आने की अनुमति लेना होती हैं मगर उन्होंने नहीं ली क्योंकि रेलकर्मचारी ने उनको पैसा दिया था। हालांकि पुलिस इसकी पुष्टि नहीं करती है।

खबरें और भी हैं...