पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP में दो हैंडपंप ने उगली जहरीली शराब:झांसी में पुलिस ने दी दबिश, दो जगह नल चलाए तो निकलने लगी कच्ची शराब, 1720 लीटर शराब बरामद, नष्ट किया लाहन

झांसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अलीगढ़ में जहरीली शराब से 56 मौतों के बाद पूरे उत्तर प्रदेश में नकली शराब को लेकर छापा मार अभियान चल रहा है। इस बीच झांसी में ऐसे मामले सामने आए, जो देखकर पुलिस भी हैरान रह गई। पुलिस ने सीपरी बाजार और मऊरानीपुर क्षेत्रों में दबिश दी तो दोनों जगहों पर हैंडपंप से शराब निकली। पुलिस ने हैंडपंप चलाए तो शराब निकलने लगी। शराब माफिया ने जमीन के नीचे टंकी दबा रखी थी। इन पर हैंडपंप लगा रखे थे। दोनों जगहों पर 1720 लीटर शराब बरामद हुई है।

पूरे प्रदेश में चल रही छापेमारी

आबकारी टीम ने शनिवार को मऊरानीपुर के देवरी गांव में दबिश दी तो पुलिस को वहां कुछ नहीं मिला। लेकिन पठा गांव में पुलिस की नजर वहां लगे एक हैंडपंप पर गई, उसे चलाया तो पानी की जगह शराब निकलने लगी। इसके बाद पुलिस ने वहां खुदाई कराई। जमीन के नीचे पानी की टंकी दबी हुई थी। जिसमें 70 लीटर शराब थी।

पुलिस ने बताया कि जमीन के अंदर टंकियों में कच्ची शराब स्टोर करके रखते हैं और जरूरत के अनुसार हैंडपंप चलाकर निकालते हैं। पुलिस ने मौके से एक महिला को गिरफ्तार किया। इसके साथ पुलिस ने शराब बनाने वाले अन्य उपकरणों को भी नष्ट किया।

पुलिस की छापेमारी अभी चल रही है। बरामद लाहन को नष्ट किया जा रहा है।
पुलिस की छापेमारी अभी चल रही है। बरामद लाहन को नष्ट किया जा रहा है।

जगह-जगह कच्ची शराब का ठिकाना

थाना सीपरी बाजार के गांव पाड़री में पुलिस ने आबकारी टीम के साथ दबिश दी तो यहां भी शराब उगलने वाला हैंडपंप मिला। यहां 1650 लीटर अवैध शराब बरामद की गई और 9000 किलोग्राम लाहन (शराब बनाने में उपयोग किए जाने वाला पदार्थ) नष्ट किया गया। साथ ही 2 भट्ठियां जेसीबी लगाकर नष्ट की गई।

इसके अलावा पुलिस ने गोरामछिया में दबिश देकर 2000 किलोग्राम लाहन बरामद किया। जिसे मौके पर ही नष्ट किया गया, साथ ही 300 लीटर कच्ची शराब समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया।

आबकारी विभाग और पुलिस की टीमों के छापेमारी की सूचना मिलते ही पूरा गांव खाली हो गया।

अलीगढ़ में बढ़ता जा रहा मौत का आंकड़ा

अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिला प्रशासन ने रविवार सुबह तक 26 मौत की पुष्टि की है। हालांकि ग्रामीणों का आरोप है कि मौत का आंकड़ा 56 तक पहुंच चुका है। मृतकों में लोधा और खैर इलाके के अंडला, करसुआ, हैवतपुर गांव और जवा थाना क्षेत्र के छेरत गांव के लोग शामिल हैं। इन चार गांव के लोगों ने ठेके से गुरुवार की शाम शराब खरीदकर पी थी।

खबरें और भी हैं...