आकाशीय बिजली गिरने से गर्भवती महिला की मौत:बारिश बंद होने पर कचरा फेंकने जा रही थी, तभी गिरी बिजली

झांसीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गीतादेवी की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
गीतादेवी की फाइल फोटो।

झांसी से करीब 70 किलोमीटर दूर एमपी के टीकमगढ़ में रविवार को आकाशीय बिजली गिरने से एक गर्भवती महिला गंभीर रूप से झुलस गई। उसे झांसी मेडिकल कॉलेज लाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। घटना टीकमगढ़ जिले के चंदेरा के कछिया गुढ़ा गांव में हुई। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।
7 माह की गर्भवती थी महिला
कछिया गुढ़ा गांव निवासी गीतादेवी कुशवाहा (25) पत्नी नीरज कुशवाहा हाउसवाइफ थी। पति ने बताया कि रविवार सुबह बारिश बंद होने के बाद पत्नी गीता कचरा फेंकने के लिए गई थी। घर के नजदीक ही आकाशीय बिजली गिरने से गीता झुलस गई। तब झांसी मेडिकल कॉलेज लेकर आए। यहां डॉक्टरों ने गीता को मृत घोषित कर दिया।
गीता की शादी करीब 4 साल पहले हुई थी। उसका पति नीरज खेतीबाड़ी करता है। गीता का एक दो साल का बेटा है। जबकि वह करीब 7 माह की गर्भवती थी। सब लोग घर में दूसरे नवजात की खुशी मना रहे थे, लेकिन मौत के बाद सारी खुशियां काफूर हो गई।

खबरें और भी हैं...