पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घर से भागी लड़कियां मिली:मम्मी-पापा ने डांटा तो दो सहेलियां हजारों रुपया लेकर भाग गईं, झांसी रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने पकड़ लिया

झांसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बच्चियों के परिजनों को सूचना दी गई। - Dainik Bhaskar
बच्चियों के परिजनों को सूचना दी गई।

झांसी रेलवे स्टेशन पर रेलवे सुरक्षा बल ने घर से हजारों रुपया लेकर भागी दो सहेलियों को पकड़ लिया। पूछताछ के बाद दोनों को रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया। बताया गया कि माता-पिता की डांट से क्षुब्ध होकर दोनों सहेलियां घर से भागी हैं। इसकी सूचना परिजनों को दी गई है।

मध्य प्रदेश के छतरपुर की रहने वाली हैं दोनों
रेलवे सुरक्षा बल के स्टेशन पोस्ट के उपनिरीक्षक घनेंद्र सिंह, सहायक उपनिरीक्षक विमल कुमार पांडे स्टेशन एरिया में गश्त कर रहे थे तभी सर्कुलेटिंग एरिया में रेलवे चाइल्ड लाइन के सदस्य आलोक कुमार एवं राखी यादव मिले जिन्हें साथ लिया गया।

इसी दौरान दो नाबालिग बच्चियां संदिग्ध अवस्था में दिखाई पड़ी। संदेह होने पर उक्त दोनों बच्चियों के पास जाकर पूछताछ की गई तो उन्होंने पूछने पर अपना-अपना नाम सुहानी और चंदा अहिरवार निवासी कोटा थाना राजनगर जिला छतरपुर मध्य प्रदेश बताया।

लड़कियों के पास 76000 से ज्यादा रुपये मिले
पूछताछ के दौरान दोनों ने बताया कि वो दोनों दोस्त हैं और माता-पिता की डांट फटकार से क्षुब्ध होकर बिना घर वालों को बताए घर से यहां आ गई हैं। सुहानी नामक बच्ची ने अपने घर पर रखे हुए रुपए नकदी लेकर अपनी सहेली के साथ दिल्ली जाने के क्रम में झांसी रेलवे स्टेशन पहुंचना बताया। इसी क्रम में सुहानी नामक लड़की कुछ सकपकाई और अपने पहने हुए पेंट की जेब में बार-बार हाथ लगाने लगी जिस पर राखी यादव द्वारा उसकी पेंट की जेब को चेक किया गया तो उसमें 500-500 रुपए के कुल 151 नोट एवं 10-10 रू. के 91 नोट कुल 76410 रू. मिले।

घर वालों को बच्चियों का जानकारी दी गई
इसके बाद दोनों बच्चियों द्वारा बताए गए मोबाइल नंबर पर घरवालों से संपर्क किया गया। दोनों के घर वालों ने बताया कि दोनों बच्चियां बिना किसी को कुछ बताए एक साथ घर से भाग गईं हैं और वो लोग उन्हें लेने के लिये गांव से निकल रहे हैं। दोनों बच्चियों को उनसे प्राप्त कुल 76410 रू सहित रेलवे चाइल्ड लाइन झांसी के सदस्य आलोक कुमार व राखी यादव को सही सलामत सुपुर्द किया गया।

खबरें और भी हैं...