छिबरामऊ नुमाइश में उमड़ा जनसैलाब:भीड़ काबू करने के लिए पुलिस को करनी पड़ी कड़ी मशक्कत, देर रात तक बनी रही रौनक

छिबरामऊ17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

छिबरामऊ खुशगवार मौसम और रविवार की रात। यूं तो नुमाइश को शुरू हुए 5 दिन बीत चुके हैं। भीड़ भी उमड़ रही है, मगर रविवार को तो रिकार्ड ही टूट गया। इतनी भीड़ आई कि आवागमन दूभर हो गया। नौकरी पेशा लोगों ने परिवार के साथ नुमाइश पहुंचकर रविवार की छुट्टी का आनंद लिया। रात में ऐसा नजारा रहा, जैसे बाजार भीड़ से पट गए हों। धक्का-मुक्की भी हुई। यह रौनक देर रात तक बनी रही। दुकानदारों के चेहरे खिल उठे।

शहर में नुमाइश शुरू से ही उठान पर रही। सुबह से ही भीड़ आना शुरू हो जाती है और देर रात तक ग्राहकों का आवागमन बना रहता है। रविवार को सार्वजनिक छुट्टी का लोगों ने लाभ उठाया। दोपहर से ही भीड़ पहुंचनी शुरू हो गई। जिसका परिणाम था कि पूरे दिन प्रदर्शनी में लगे खेल-तमाशे व झूले चलते दिखाई दिए। बच्चों व बड़ों में झूलों को लेकर विशेष आकर्षण दिखाई दिया। सर्कस को भी खूब दर्शक मिले।

छिबरामऊ की नुमाइश रविवार की शाम को जमकर भीड़ हुई।
छिबरामऊ की नुमाइश रविवार की शाम को जमकर भीड़ हुई।

भीड़ के कारण मार्गों पर जाम की स्थिति रही बनी
कर्मचारियों ने बताया कि रविवार की छुट्टी के चलते लोग बच्चों के साथ नुमाइश देखने आए, इससे भीड़ बढ़ी। रात के समय तो नुमाइश के तमाम बाजार व गलियों में भीड़ के चलते आने-जाने में भी समस्या होने लगी। कोई ऐसा बाजार नहीं था, जहां भीड़ न हो। सबसे ज्यादा भीड़ हुल्लड़ बाजार कोहिनूर मंच के पास रही। नुमाइश को लेकर लोगों में उत्साह दिखा। भीड़ को देखकर दुकानदारों के भी चेहरे खिले रहे और वे ग्राहकों से घिरे नजर आए। नुमाइश में भीड़ के चलते जीटी रोड, व आसपास के मार्गों पर जाम की स्थिति बन गई। भीड़ को संभालने में पुलिस भी बेबस नजर आई।

पुलिस व्यवस्था के चाक-चौबंद
कोतवाली प्रभारी जय प्रकाश शर्मा ने बताया कि नुमाइश के लिए पुलिस से परमिशन ली गई है। जहां पर पुलिस व्यवस्था के चाक-चौबंद इंतजाम है, लेकिन रात को ज्यादा भीड़ होने की वजह से अलग से पुलिस बल को भेजा गया था। भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

खबरें और भी हैं...