हसेरन मे श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन:राम जन्म का प्रसंग सुनकर भाव विभोर हुए श्रोता

हसेरन, कन्नौज16 दिन पहले

हसेरन क्षेत्र के अमिलिया गांव मे चल रही श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन सरस कथा वाचक आचार्य द्वारा प्रभु श्री राम के जन्म का प्रसंग सुनाया गया। भक्तों की भीड़ रही , भक्ति भाव से भगवान की कथा का रसास्वादन किया। कथावाचक आचार्य सोनू शास्त्री ने श्रीमद्भागवत कथा की मनमोहक प्रसंग का वर्णन किया। उन्होंने कथा में बताया असत्य से सत्य की ओर , अंधकार से प्रकाश की ओर , पाप से पुण्य की ओर भगवान का भजन हम सभी को हम सभी को करना अनिवार्य है। श्रीमद् भागवत कथा अनंत है।

कथावाचक ने बताया भगवान का जन्म नहीं हुआ , वह प्रकट हुए। रामचरितमानस , रामायण कहती है भए प्रगट कृपाला , दीन दयाला कौशल्या हितकारी। प्रभु श्री राम मर्यादा पुरुषोत्तम कहे गए। भगवान अपने अंशों के साथ प्रकट हुए। राम जन्म होते ही अयोध्या नगरी में खुशियां मनाई जाने लगी। मंगल गीत गाए जाने लगे। चक्रवती अयोध्या नरेश राजा दशरथ अपने हाथों से बहुमूल्य रत्नों को दान करने लगे। उनके घर में एक नहीं बल्कि चार बेटों ने जन्म लिया। राम जन्म की कथा सुन भक्त भावविभोर हो गए।

इस मौके पर मनोज , अनुज ,राजेश , रोहित ,मुकेश ,अंकित, रोहन , रजत , खुशबू , पूजा , पायल , दीपा, पवन, अनिल , अनीश , टिंकू, सोनपाल , मोतीलाल, गयाप्रसाद , चंद शेखर सहित काफी संख्या में कथा पंडाल में लोग उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...