पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी:फर्रुखाबाद में जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट घोटाले में लुईस खुर्शीद के खिलाफ दर्ज है केस, कोर्ट की सुनवाई में नहीं हो रहीं थी हाजिर

फर्रुखाबाद7 दिन पहले
कांग्रेस सरकार में विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी हुआ है।- फाइल

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में हुए डॉ. जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट घोटाले में ट्रस्ट की परियोजना निदेशक व पूर्व विदेश मंत्री की पत्नी लुईस खुर्शीद फंस गई हैं। कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। इसके साथ ही, इस मामले में सचिव अतहर फारूखी उर्फ मोहम्मद अतहर के खिलाफ भी सीजेएम कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी हुए हैं। घोटाले में कायमगंज कोतवाली में जांच अधिकारी रामशंकर यादव ने 10 जून 2017 को एफआईआर दर्ज कराई थी।

इसके बाद जांच अधिकारी ने 30 दिसंबर 2019 को लुईस खुर्शीद व अतहर फारूखी के खिलाफ सीजेएम कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया था। आरोपी सुनवाई के दौरान हाजिर नहीं हो रहे थे। इनके खिलाफ समन जारी किया गया था। फिर भी हाजिर न होने पर गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है। 16 अगस्त 2021 की तारीख लगाई है।

फर्जीवाड़े का चल रहा है मुकदमा
मामला 30 मार्च 2010 का है। ट्रस्ट को केंद्र सरकार से 71.50 लाख रुपए मिले थे। इससे दिव्यांगों को उपकरण बांटे जाने थे। इसमें से 4 लाख रुपए से फर्रुखाबाद में कैंप लगाकर दिव्यांगों को उपकरण दिए जाने थे, लेकिन इसमें धोखाधड़ी की गई।

ऐसे हुआ घोटाला
दिव्यांगों के उपकरण वितरण में बड़े स्तर पर घोटाला किया गया। 10 प्रतिशत दिव्यांगों का सत्यापन जिला स्तरीय समिति से कराकर रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजनी थी। 3 जून 2010 को 32 लाभार्थियों की सूची सत्यापन रिपोर्ट के साथ केंद्र सरकार को भेजी गई। निरीक्षक रामशंकर यादव के द्वारा की गई जांच में पाया गया कि सूची सत्यापन में तहसीलदार कायमगंज व सीएमओ के पदनाम की मुहर फर्जी है। 29 मई 2010 को कायमगंज में कोई भी कैंप नहीं लगाया गया था। न ही दिव्यांगों को उपकरण बांटे गए थे।

खबरें और भी हैं...