कन्नौज में ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट:CMO ने कहा- फोकस सैंपलिंग पर ज्यादा जोर, बाहर से आने वाले यात्रियों में रखी जा रही नजर

कन्नौज7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कन्नौज में ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट। - Dainik Bhaskar
कन्नौज में ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के भारत में दस्तक दे दी है। इसको लेकर यूपी में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। ओमिक्रॉन को लेकर तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए कन्नौज में भी स्वास्थ्य विभाग ने इससे बचाव के निर्देश जारी किए हैं।

स्वास्थ्य महकमा हुआ अलर्ट

जिले में सतर्कता बढ़ाते हुए स्वास्थ्य महकमे ने सार्वजनिक और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर RTPCR टेस्ट की शुरूआत कर दी है। जिसकी निगरानी स्वयं जिला मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. विनोद कुमार कर रहे हैं। उनका कहना है कि स्वास्थ्य विभाग इसके लिए जिले में पूरी तरह से पुख्ता इंतजाम कर रहा है। बाहर से आ रहे सभी लोगों की रेलवे स्टेशन व बस स्टैण्ड पर भी जांच की जा रही है।

क्या कह रहे हैं जिम्मेदार

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि नया वेरिएंट ओमिक्रॉन साउथ अफ्रीका में मिला है। अभी इसकी स्टडी स्टार्ट हो रही है। जब तक स्टडी नहीं हो जाती तब तक यह नहीं कहा जा सकता है कि यह कितना घातक है। अभी हमारे यहां कोई भी केस पॉजिटिव नहीं आया है। इसलिए हम लोग सेफ हैं। यह खतरनाक इसलिए है, क्योंकि यह बहुत जल्दी फैलता है। पहले जो कोविड का वायरस था, उसमें लोगों को बुखार‚ जुकाम और खांसी होती थी और कई सिम्टम्स होते थे‚ लेकिन इसमें यह चीज नहीं है। इसमें डेली वीकनेस होती है। यह लंग्स पर ज्यादा असर करता है।

सैंपलिंग पर फोकस

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि हमने एक हफ्ते की फोकस प्लानिंग की है, उसमें हमारे गुरसहायगंज‚ कन्नौज रेलवे स्टेशन हैं। साथ ही बस स्टैंड हैं। वहां पर हमें 7 तारीख तक प्लान बनाकर सैम्पलिंग करवानी है। जितनी हम सैंपलिंग करवाएंगे उतना ही हम मरीजों को चेक आउट कर सकते हैं। किसी में कोई लक्षण तो नहीं। जो बाहर से आया‚ उसे हम उसी समय टेस्ट कर सकते हैं। इसके अलावा जो डिग्री कॉलेज है‚ आईआईटी कॉलेज है। इस पर हमको फोकस करना है। जिससे मैक्सिमम सैंपलिंग हम वहां से ले सकें। इसलिए हम लोग फोकस सैपलिंग पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं।