आवास के लिए धरने पर बैठा दिव्यांग का परिवार:कन्नौज में 3 साल पहले आवास के लिए किया था आवेदन, अभी तक नहीं मिली पहली किस्त

कन्नौजएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आवास के लिए धरने पर बैठा दिव्यांग का परिवार। - Dainik Bhaskar
आवास के लिए धरने पर बैठा दिव्यांग का परिवार।

कन्नौज जिले में 3 साल से आवास के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे दिव्यांग पति-पत्नी बच्चे सहित शुक्रवार को कलेक्ट्रेट परिसर में धरने पर बैठ गए। उनका कहना है कि सीएम योगी के जनता दरबार में आवास के लिए गुहार लगाई थी। सीएम ने डीएम को आवास देने के लिए निर्देश भी दिए, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उनका कहना है कि जब तक आवास नहीं मिलेगा, हम लोग यहां से नहीं हटेंगे।

सीएम के जनता दरबार में लगाई थी गुहार

बता दें कि कलेक्ट्रेट परिसर में धरने पर बैठे दिव्यांग दंपति सदर क्षेत्र के ताजपुर नौकास मोहल्ले के रहने वाले हैं। दिव्यांग योगेंद्र ने 3 साल पहले पीएम आवास के लिये आवेदन किया था। जिला प्रशासन ने उसकी फाइल आगे नहीं बढ़ाई तो कुछ माह पूर्व उसने सीएम योगी के जनता दरबार में आवास के लिए गुहार लगाई।

जब तक नहीं मिलेगा आवास, खत्म नहीं होगा धरना

आवास के लिए भटक रहे दिव्यांग योगेंद्र का कहना है कि सीएम योगी के आदेश के बाद उसकी फाइल की जांच भी हो चुकी है, लेकिन अभी तक पहली किश्त नहीं मिली। किश्त के लिए जब कहीं से सुनवाई नहीं हुई तो आज योगेंद्र परिवार सहित अनशन पर बैठ गया। उसका कहना है कि जब आवास नहीं मिल जाता हम लोग यहां से नहीं हटेंगे।

खबरें और भी हैं...