कन्नौज में उदयपुर की घटना का विरोध:हिंदूवादी संगठनों ने हत्यारों को फांसी देने की मांग की

कन्नौज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुतला फूंकने आए संगठनों के कार्यकर्ताओं को समझाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
पुतला फूंकने आए संगठनों के कार्यकर्ताओं को समझाती पुलिस।

कन्नौज के इंदरगढ़ कस्बा में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने निर्मम हत्या का विरोध कर आपत्ति जताई। संगठन के पदाधिकारियों ने मिलकर पुतला फूंकने का प्रयास किया। वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी को रोक दिया। संगठन के पदाधिकारियों ने बताया हत्या नहीं यह साजिश है। ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करने की भी बात कही। कस्बा के पटेल नगर तिराहे पर संगठन के पदाधिकारियों ने एकजुट होकर रोष जताते हुए पुतला फूंकने का प्रयास किया। उदयपुर में हुई दर्जी कन्हैयालाल की निर्मम हत्या को लेकर हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं में काफी आक्रोश देखने को मिला।

पुतला फूंकने से रोकती हुई पुलिस।
पुतला फूंकने से रोकती हुई पुलिस।

पुलिस ने पुतला फूंकने से किया मना

संगठन के कार्यकर्ताओं ने कस्बा मे आरोपियों के खिलाफ रोष व्यक्त किया। आरोपियों का पुतला फूंकने का काम कर ही रहे थे पुलिस को किसी तरह भनक लग गई है। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी पुलिस कर्मियों के साथ सभी को समझाने बुझाने का प्रयास किया। पुतला फूंकने से मना भी किया। संगठन के पदाधिकारियों ने पुलिस की बात मानकर उन्हें ज्ञापन सौंपा।

पुतले का सामान गाड़ी में रखकर ले जाते पुलिसकर्मी।
पुतले का सामान गाड़ी में रखकर ले जाते पुलिसकर्मी।

फांसी की मांग को लेकर दिया ज्ञापन

बुधवार को कन्नौज में राजस्थान के उदयपुर में कट्टरपंथी रियाज मोहम्मद गौस मोहम्मद ने दर्जी दुकानदार कन्हैया लाल की धारदार हथियार से हत्या कर दी। इसका विरोध योगी सेना ने भी किया और कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए राष्ट्रपति को संबोधित एक ज्ञापन कन्नौज कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिला प्रशासन को सौंपा है। जिसमें मांग करते हुए योगी सेना के जिला अध्यक्ष गोपाल पांडे ने बताया कि राजस्थान में घटित घटना को लेकर सभ्य समाज में ऐसी दरिंदगी करने वालों की कोई जगह नहीं है।

हाथों में मांगपत्र लिए प्रदर्शन करते हिंदूवादी संगठन।
हाथों में मांगपत्र लिए प्रदर्शन करते हिंदूवादी संगठन।

उन्होंने बताया कि इस घटना को लेकर भारतीय बहुसंख्यक सहमे हुए हैं जिससे कट्टरपंथी सर तन से जुदा के नारे के साथ एक समाज को टारगेट बना रहे हैं। इन विषयों को गंभीरता से लेते हुए राष्ट्रपति से मांग की गई है कि रियाज मोहम्मद गौस मोहम्मद दोनों को इस जघन्य हत्या की दृष्टिगत फांसी की सजा दिलाई जाए।

खबरें और भी हैं...