कन्नौज में जिस्मफरोशी के कारोबार से आजाद हुई किशोरी:नौकरी का झांसा देकर 2 महिलाओं ने बेचा था, आपबीती बताते हुए लगाई सीएम से न्याय की गुहार

कन्नौजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित किशोरी - Dainik Bhaskar
पीड़ित किशोरी

कन्नौज जिले में एक किशोरी जिस्मफरोशी के दलदल से खुद ही निकल कर बाहर आ गई। दरिंदों के चंगुल से बचकर भागी किशोरी अपने घर पहुंची और परिजनों को अपनी आपबीती सुनाई। पीड़िता ने बताया कि वह पिछले 2 सालों से जिस्मफरोशी के कारोबार में फंसी थी। किशोरी ने आरोपियों के चंगुल में फंसी अन्य लड़कियों को मुक्त कराने के लिए मुख्यमंत्री से गुहार लगाई है।

नौकरी का झांसा देकर 2 महिलाओं ने किशोरी का था बेचा
कन्नौज नगर की रहने वाली एक किशोरी ने जानकारी देते हुए बताया कि विगत 1 वर्ष 11 माह पूर्व कन्नौज की ही 2 महिलाएं उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर अपने साथ ले गई थी। दिल्ली में ले जाकर उसे जिस्मफरोशी का कारोबार करने वाले लोगों के हाथ बेच दिया।

उन कारोबारियों ने उक्त किशोरी को बरेली के लोगों के हाथ बेच दिया। जिसके बाद किशोरी को बदायूं में बंधक बनाकर रखा गया। जहां पहले से भी कई लड़कियां मजबूरन अपनी आबरू का सौदा कर रही थी। हवस के दरिंदों ने ना सिर्फ इन मासूमों को जिस्मफरोशी के कारोबार में लगा दिया। बल्कि इन्हें शारीरिक एवं मानसिक यातनाएं भी देता रहा।

बात न मानने पर करते थे पिटाई
कई दिन तक किशोरियों को भूखा रखना एवं आग से जलाने का भी काम करते थे। पीड़िता के मुताबिक उन लोगों की बात ना मानने पर मारपीट के साथ साथ कठोर यातनाएं झेलनी पड़ती थी। घर लौटी पीड़िता ने रो-रो कर परिजनों को आपबीती सुनाई।

पीड़िता ने लगाई मुख्यमंत्री से गुहार
किशोरी की मां फूट- फूट कर रो पड़ी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उक्त लड़कियों को मुक्त कराए जाने की मांग की। पीड़ित ने पुलिस के आला अफसरों से भी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की गुहार लगाई है।

खबरें और भी हैं...