फर्रुखाबाद में पुलिस एनकाउंटर:खाद व्यापारी व उसके नौकर के अपहरण केस में फरार चल रहे आरोपी से पुलिस की हुई मुठभेड़, तमंचे सहित युवक गिरफ्तार

फर्रुखाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फर्रुखाबाद में पुलिस ने अपहरण के आरोपी को मुठभेड़ के बाद किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
फर्रुखाबाद में पुलिस ने अपहरण के आरोपी को मुठभेड़ के बाद किया गिरफ्तार।

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां खाद व्यापारी के नौकर के अपहरण के मामले में फरार चल रहे आरोपी की पुलिस तलाश कर रही थी। सूचना मिलने पर गंगा की कटरी क्षेत्र में उसे घेराबंदी कर पकड़ा। उसके पास से पुलिस ने तमंचा भी बरामद किया है। पहले हुई मुठभेड़ में पुलिस ने गिरोह के सरगना व एक अन्य साथी को गिरफ्तार किया था। उनके चंगुल से खाद व्यापारी और उसके नौकर को छुड़वाया था।

पहले मास्टरमाइंड को किया था गिरफ्तार

मामला गंगा की कटरी क्षेत्र का है। जहां शनिवार की रात पुलिस ने रंजीत यादव को गिरफ्तार किया है। दरअसल, बीते गुरूवार की रात रंजीत और उसके गैंग ने मिलकर एक खाद व्यापारी के नौकर का अपहरण किया था। जिसके बाद पुलिस व एसओजी हरकत में आई। उसने शुक्रवार की रात बरगदिया घाट के कटरी क्षेत्र में दबिश दी। जहां गैंग के मुखिया राममिस्टर यादव के साथ उसके एक साथी मौजूद थे। उन लोगों ने पुलिस को देखते ही गोलियां चलानी शुरू कर दी थी। जिसके बाद पुलिस की ओर से जवाबी कार्रवाई की गई थी। राममिस्टर और उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया गया था। जबकि अन्य दो आरोपी मौके से फरार हो गए थे।

हिस्ट्रीशीटर है राममिस्टर

पकड़ा गया अपराधी राममिस्टर हिस्ट्रीशीटर है। वह फतेहगढ़ कोतवाली का टॉप टेन अपराधी है। जिसके ऊपर 36 संगीन मामले दर्ज है। वह हाल ही में जेल से छूटकर आया था। उसने हाल ही हुए पंचायत चुनाव में अपनी पत्नी को प्रधान पद का उम्मीदवार बनाया था। मतदान के दिन उसने फायरिंग व मारपीट भी की थी। जिसके बाद पुलिस ने मतगणना में जाने के दौरान उसे गिरफ्तार कर लिया था।

नौकर के चाचा से मांगी थी 30 लाख की रंगदारी

कन्नौज जिले के गुरसहायगंज कस्बे का निवासी है विकास गुप्ता। जो कि खाद व्यापारी हैं। अपहरणकर्ताओं ने उसे खाद खरीदने के बहाने से दुकान पर बुलाया था। जब व्यापारी ने नौकर के साथ पहुंचकर दुकान खोलने के लिये शटर उठाया। तो बदमाशों ने असलहों के दम पर उसके नौकर के साथ उसका अपहरण कर लिया। मामले की सूचना आईजी कानपुर को हुई। उन्होनें मामले के जल्द खुलासे के निर्देश दिये थे। एसपी प्रशांत वर्मा ने एएसपी की अगुवाई में 6 टीमों को व्यापारी का सुराग ढूंढने में लगाया था। बदमाशों ने शुक्रवार को व्यापारी के चाचा के पास 30 लाख रुपए की फिरौती के लिए फोन किया। पुलिस ने फिरौती की रकम देने के स्थान की घेराबंदी की। देर शाम दोनों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। खाद व्यापारी व नौकर को फतेहगढ़ से सकुशल मुक्त कराया गया। फर्रुखाबाद जनपद के हिस्ट्रीशीटर राममिस्टर ने अपने 4 साथियों के साथ मिलकर अपहरण को अंजाम दिया था। पुलिस ने बताया कि जानकारी मिली थी कि अपहरणकर्ता के कुछ साथी गंगा कटरी क्षेत्र में छुपे हुए है। पुलिस व एसओजी टीम की कॉबिंग के दौरान आरोपित रंजीत यादव को तमंचा सहित गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी अन्य 2 साथी भागने में सफल रहे उनकी तलाश जारी है

खबरें और भी हैं...