• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kannauj
  • The Family Had Taken The Child To Kannauj For Treatment After Fever, The Condition Worsened Due To Injection; After The Death, The Family Members Created A Ruckus

झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही के चलते गई नाबालिग की जान:कन्नौज में बच्चे को बुखार आने पर इलाज के लिए ले गए थे परिजन, इंजेक्शन लगाने से बिगड़ी हालत; मौत के बाद घरवालों ने किया हंगामा

कन्नौज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कन्नौज में गलत इंजेक्शन लगने के चलते गई नाबालिग की जान। - Dainik Bhaskar
कन्नौज में गलत इंजेक्शन लगने के चलते गई नाबालिग की जान।

कन्नौज में एक झोलाछाप डॉक्टर के इंजेक्शन लगाने से एक बच्चे की तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद परिजन उसे बेहतर इलाज के लिए कानपुर ले जा रहे थे। तभी रास्ते में उसकी मौत हो गई। नाराज परिजनों ने डॉक्टर की क्लीनिक पर पहुंचकर हंगामा किया। तो वह क्लीनिक पर ताला मारकर भाग निकला। नाबालिग को कई दिनों से बुखार आ रहा था। साथ ही उसके पैरों में दर्द भी था। घरवाले उसको एक झोलाछाप डॉक्टर के पास इलाज के लिए ले गए। जहां डॉक्टर ने उसे दर्द का इंजेक्शन दे दिया। जिसके लगने के बाद उसकी हालत बिगड़ने लग गई। तो उसने उसे रेफर कर दिया। वहां से घरवाले उसको एक निजी अस्पताल में लेकर गए। वहां हालत नाजुक देखकर उसे कानपुर रेफर किया गया। कानपुर ले जाते वक्त रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। सीएमओ ने कहा कि जांच में अगर डॉक्टर दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई करवाएंगे।

डॉक्टर ने लगाया रखा हुआ इंजेक्शन
जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के मढ़हरपुर गांव के रहने वाले फरीद के बेटे नाजिम(11) को कई दिनों से बुखार आ रहा था। साथ ही उसके पैर में तेज दर्द भी था। जिसके चलते परिजन शुक्रवार को उसे इलाज के लिए सरायमीरा में डॉ अखिलेश के क्लीनिक पर लेकर गए। वहां उसे डॉक्टर ने दर्द के लिए जो इंजेक्शन लगाया वह रखा हुआ था।

कुछ ही देर में बिगड़ी हालत
इंजेक्शन लगने के कुछ देर बाद बच्चे की हालत बिगड़ने लग गई। मामला बिगड़ता देख डॉक्टर ने बच्चे को रेफर कर दिया। परिजन आनन-फानन में रविवार को उसे जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां पर भी आराम न मिलने पर परिजन नाजिम को गुरसहायगंज स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए। जहां हालत मे सुधार न होने पर डॉक्टरों ने उसे कानपुर रेफर कर दिया।

बच्चे की मौते के बाद परिजनों में बचा कोहराम
बच्चे की मौते के बाद परिजनों में बचा कोहराम

क्लीनिक बंद कर डॉक्टर हुआ फरार
नाजिम को रविवार देर शाम कानपुर ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई। इसके बाद नाराज परिजन मृत बच्चे को लेकर झोलाछाप के क्लीनिक पहुंचे और हंगामा किया। मामला बढ़ते देख डॉ अखिलेश क्लीनिक में ताला लगाकर फरार हो गया। हंगामे की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाना चाहा। तो परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। सीएमओ डॉ विनोद ने बताया कि गांव में टीम भेजकर मामले की जांच कराएंगे। मामला सही पाए जाने पर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...