कन्नौज…स्विट्जरलैंड का ड्रोन स्प्रे किसानों को ठंड से बचाएगा:फसलों पर करेगा दवा का छिड़काव, कम पानी में 5 घंटे का काम 10 मिनट में पूरा करेगा

कन्नौजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ड्रोन फसलों पर छिड़केगा दवा। - Dainik Bhaskar
ड्रोन फसलों पर छिड़केगा दवा।

कन्नौज में किसानों को अब सर्दी में खेत के अंदर घुसने की जरूरत नही होगी। किसानों को अपनी फसल में दवा छिड़काव के लिए अब 'ड्रोन स्प्रे' की मदद मिलेगी।

एक कंपनी ने जिले में ड्रोन से कीटनाशक का छिड़काव कर ट्रायल भी किया है। कृषि वैज्ञानिकों ने इस 'ड्रोन स्प्रे' को सभी फसलों में कीटनाशक का छिड़काव करने के लिए बेहतर तकनीकी बताया है। जिससे किसानों को सुविधा मिलेगी।

किसानों को खेतों के अंदर जाने में होती थी परेशानी

खेतों में किसान के आलू की फसल तैयार है। जिसमें सर्दी के दिनों में झुलसा की संभावना ज्यादा होती है। अधिक ठंड होने के कारण किसान को भी खेत के अंदर घुसने में दिक्कत और परेशानी का सामना करना पड़ता था। अब किसानों की मदद के लिए ड्रोन स्प्रे आ गया है।

जिसको लेकर किसान इस भीषण ठंड में भी ड्रोन के माध्यम से कीटनाशन दवा का छिड़काव करके अपनी फसल को बचा पाएंगे। ये ड्रोन फसलों में दवा का छिड़काव करने में सहायक है।

स्विजरलैंड में तैयार हो रहा है ड्रोन

इस ड्रोन स्प्रे को स्विट्जरलैंड की सिजेंटा कंपनी ने तैयार किया है। जिसका ट्रायल कन्नौज जिले केजलाबाद ब्लाक के ग्राम नदसिया में ड्रोन से आलू की फसल में स्प्रे कर किया गया है। इसके साथ ही किसानों को नई तकनीकी के फायदे बताए गये हैं। जिले में यह ट्रायल तीन दिन से अलग-अलग क्षेत्रों में चल रहा है।

दस मिनट में पूरा करेगा काम

कृषि विज्ञान केंद्र अनौगी के वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डाक्टर वीके कनौजिया का कहना है कि ड्रोन फसलों को झुलसा और अन्य कीट रोग से बचाने के लिए कारगर साबित हो रहा है। इस ड्रोन स्प्रे से एक एकड़ एरिया की फसल में स्प्रे करने में दस लीटर पानी लगता है, जो मात्र दस मिनट के अंदर पूरी एरिया में छिड़काव कर देता है।

कम समय में करेगा काम

यह यंत्र बैट्री से चलता है। यदि यह कार्य हाथ से किया जाये तो दवा का छिड़काव करने के लिए 150 लीटर पानी के साथ पांच से छह घंटे लगते हैं। ड्रोन स्प्रे से नमी और खेतों में जलभराव की स्थिति में भी बिना किसी परेशानी के छिड़काव किया जा सकता है।