'ज्यादा से ज्यादा बच्चों का कराएं नामांकन':कानपुर देहात में डीएम ने शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के दिए निर्देश

कानपुर देहात2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर देहात में डीएम ने विकास भवन सभागार कक्ष में बैठक की। - Dainik Bhaskar
कानपुर देहात में डीएम ने विकास भवन सभागार कक्ष में बैठक की।

कानपुर देहात में जिलाधिकारी नेहा जैन और मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडेय ने विकास भवन सभागार कक्ष में शिक्षा में सुधार को लेकर समस्त इंटर व डिग्री कॉलेज,जीआईसी/जीजीआईसी व वित्तविहीन विद्यालयों के प्रधानाचार्य के साथ बैठक की। इस दौरान जिलाधिकारी ने शिक्षक व प्राचार्यों को शिक्षा से कानपुर देहात को ग्रेटर कानपुर बनाने को लेकर प्रेरित किया।

उन्होंने कहा कि जनपद का नाम बदलने हेतु कवायद चल रही है किंतु हमें नाम से नहीं बल्कि अपने जनपद को शिक्षा के स्तर में भी बदलाव लाना है। जिलाधिकारी नेहा जैन ने समस्त उपस्थित विद्यालयों के प्रधानाचार्य को निर्देशित किया कि शिक्षा में सुधार हेतु अपने यहां संपूर्ण व्यवस्थाएं दुरुस्त कराएं तथा इस बार बैठक में पचासी से 90 प्रतिशत अंकों में पास छात्र-छात्राओं पर चर्चा की जा रही है।

कानपुर देहात में डीएम ने विकास भवन सभागार कक्ष में बैठक की।
कानपुर देहात में डीएम ने विकास भवन सभागार कक्ष में बैठक की।

नामांकन कम मिलने पर लगाई फटकार
अगली बार बैठक में 95 प्रतिशत से ऊपर के बच्चों के पास होने पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने सरकारी विद्यालयों में छात्र-छात्राओं के नामांकन कम कराए पाए जाने पर जिला विद्यालय निरीक्षक पर कड़ी फटकार लगाते हुए निर्देशित किया कि विद्यालय के प्रधानाचार्य के साथ बैठक कर ज्यादा से ज्यादा बच्चों का नामांकन विद्यालयों में कराएं और शिक्षा में सुधार लाएं और छात्र- छात्राएं शत-प्रतिशत पास हों इस पर विशेष ध्यान दिया जाए।

कानपुर देहात में डीएम ने विकास भवन सभागार कक्ष में बैठक की।
कानपुर देहात में डीएम ने विकास भवन सभागार कक्ष में बैठक की।

शिक्षा के स्तर में सुधार किया जाना महत्वपूर्ण
जिलाधिकारी नेहा जैन ने कहा कि विद्यालय में जहां कहीं कमियां है उन्हें दुरस्त कराएं। शिक्षा का स्तर में सुधार लाया जाए। इस दौरान उन्होंने कानपुर देहात में प्रति व्यक्ति के जीवन में सुधार हेतु उनकी शिक्षा के स्तर पर सुधार किया जाना महत्वपूर्ण है। उन्होंने सभी प्राचार्यों को सभी विद्यालयों के मध्य प्रतियोगिता के माहौल को बढ़ाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए।

स्वच्छता में किया जा रहा सुधार
इस दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक अरविंद कुमार द्विवेदी ने जिलाधिकारी नेहा जैन को बताया कि शैक्षिक स्तर को उठाने हेतु कृत प्रयास समस्त विद्यालयों के प्रधानाचार्य द्वारा किया जा रहा है। नियमित समय-सारिणी के अनुसार भरसक प्रयास करने पर भी कक्षाओं में पाठक्रम का कितना अंश छूट गया है उसे पुनः देखा जा रहा है। कमजोर वर्गों के छात्र छात्राओं को अलग से पठन-पाठन का कार्य कराये जाने, विद्यालय के किन-किन कार्यक्रमों का संचालन निश्चित समयावधि में कराते हुए बच्चों की व्यक्तिगत स्वच्छता में भी सुधार लाया जा रहा है एवं विद्यालय की स्वच्छता में सुधार भी किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...