ट्रेन की चपेट में आने से किसान की मौत:कानपुर से पैसेंजर ट्रेन से लौट रहा था घर, झींझक- रायपुर के बीच हुआ हादसा

कानपुर देहात2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर देहात के मंगलपुर थाने के इकरामपुर गांव का मजरा शेरसिंह का पुरवा निवासी किसान की अम्बियापुर झीझंक के बीच रायपुर के पास ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। घटना की जानकारी होते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया और मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई।

शेरसिंह का पुरवा निवासी किसान राधेश्याम खेती व मजदूरी कर चार बेटे कन्हैया , सूरज, आशिक,व गोलू व पत्नी मीरा का पालन पोषण करता था। रविवार को उसके 17 वर्षीय बेटे सूरज की बुखार आने से तबियत बिगड़ गई थी। जिसको राधेश्याम ने रुरा के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया और वह मंगलवार को कानपुर आया था। कानपुर में काम समाप्त करने के बाद बुधवार को वह पैसेंजर ट्रेन से वापस लौट रहा था। इस दौरान वह अम्बियापुर झीझंक के बीच में ही ट्रेन से उतर गया और ट्रैक पार करने के दौरान वह ट्रेन की चपेट में आ गया। जिससे उसका पैर का पंजा क़ट गया और वह बेहोश होकर रेलवे ट्रैक के किनारे गिर पड़ा।

जीआरपी ने अस्पताल में कराया भर्ती
गश्त कर रही जीआरपी की नज़र पड़ी तो तत्काल जीआरपी पुलिस ने उपचार के लिए सीएचसी में भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम को भेज दिया और घटना की जानकारी परिजनों को दी।

परिजनों को घटना की जानकारी दी गई
चौकी सिठमरा के प्रभारी लक्ष्मण सिंह ने बताया कि मृतक के परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है। जांच पड़ताल में पता चला है कि मृतक कानपुर गया था और कानपुर से घर वापसी कर रहा था।वह ट्रेन से उतर कर रेलवे ट्रैक पार करने के दौरान ट्रेन की चपेट में आया था।

खबरें और भी हैं...