• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur dehat
  • In The Kanpur Countryside, The Young Man Molests The Teenager On The Way To School, If The Police Did Not Listen, The Family Fled The House By Writing The Youth's Bullying At The Door.

छेड़छाड़ से परेशान लड़की के परिवार ने घर छोड़ा:कानपुर देहात में स्कूल आते-जाते किशोरी को छेड़ता था दबंग युवक, दरवाजे पर युवक की करतूत लिख पलायन कर गए सभी

कानपुर देहात9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छेड़छाड़ से परेशान नाबालिग ने दरवाजे पर लिख दी अपने दर्द की कहानी। - Dainik Bhaskar
छेड़छाड़ से परेशान नाबालिग ने दरवाजे पर लिख दी अपने दर्द की कहानी।

कानपुर देहात में एक नाबालिग लड़की छेड़छाड़ से इस कदर परेशान हो गई की उसने अपने परिवार के साथ अपना पैतृक गांव ही छोड़ दिया। आरोप है कि परिवार ने थाने से लेकर एसपी तक अपनी पीड़ा सुनाई, लेकिन किसी ने कोई सुनवाई नहीं की। आखिरकार परिवार ने गांव छोड़ दिया। नाबालिग ने दबंगों के डर से अपना घर छोड़ने से पहले अपना दर्द घर के दरवाजे पर बयां किया है।

पुलिस से कई बार की शिकायत पर नहीं हुई कार्रवाई।
पुलिस से कई बार की शिकायत पर नहीं हुई कार्रवाई।

लड़की का कहना है कि वो कई दिनों से छेड़छाड़ से परेशान है। दबंग स्कूल और कोचिंग आते-जाते वक्त उसका हाथ पकड़ लेते हैं। एक बार मेरे भाई ने दबंगों का विरोध किया, तो दबंगों ने उसको जान से मारने की धमकी दी और मुझको भी जमीन पर पटक दिया।

दरवाजे पर किशोरी ने इस तरह दर्द किया बयां...

नाबालिग ने अपना घर छोड़ने से पहले दरवाजे पर लिखा कि 'गांव का रहने वाला युवक मुझे और मेरे परिवार को परेशान करता है। वो मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी देते हुए कहता है कि मैं तुम सबको मारकर विकास दुबे बन जाऊंगा। युवक ने अपने 4 अन्य साथियों के साथ मिलकर मेरे घर वालों के साथ मारपीट भी की है। युवक पर पहले से कई मुकदमे दर्ज हैं। युवक पर गैंगस्टर भी लगी हुई है, लेकिन उसके बाद भी पुलिस हम लोगों की मदद नहीं कर रही है। वो कहता है कि हम तुम लोगों को गांव में नहीं रहने देंगे और अगर दिख गए तो गोली मार देंगे।'

अगर कार्रवाई नहीं हुई तो आत्महत्या कर लूंगी

पीड़ित लड़की ने बताया, मेरे पिता किसान हैं, लेकिन दबंगों के डर से वो भी खेती पर नहीं जाते हैं। ऐसे में आर्थिक दिक्कतें भी आ गई हैं। छोटा भाई भी पढ़ाई छोड़कर घर पर बैठा है। 23 सितंबर को एसपी को अपना शिकायती पत्र दिया था। एसपी से साफ कहा था कि आरोपी पर कार्रवाई नहीं हुई तो मैं खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा लूंगी। तब उन्होंने भरोसा दिया था कि बेटा परेशान न हो हम लोग कार्रवाई करेंगे, लेकिन कुछ नहीं हुआ। लड़की के पिता का आरोप है कि दबंग नहीं चाहते हैं कि मेरे बच्चे पढ़ाई करें, इसलिए वो लोग मेरे परिवार के साथ ऐसा कर रहे हैं।

नाबालिग ने दरवाजे पर लिख दिया अपना दर्द।
नाबालिग ने दरवाजे पर लिख दिया अपना दर्द।

नहीं हुई सुनवाई तो छोड़ दिया अपना पैतृक गांव

परिजनों ने लगभग एक महीने पहले इसकी शिकायत राजपुर थाने में की थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद परिवार ने जिले के एसपी को पत्र भेजा पर अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं हुई। जिसके बाद परिवार के लोगों ने 30 सितंबर को अपना पैतृक गांव छोड़ दिया और जौनपुर चले गए।

मामला संज्ञान में आने के बाद कानपुर आईजी ने दिए जांच के आदेश।
मामला संज्ञान में आने के बाद कानपुर आईजी ने दिए जांच के आदेश।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। आईजी कानपुर ने सोशल मीडिया पर ही कानपुर देहात पुलिस को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं।

पुलिस का दावा- दोनों पक्षों में पहले से विवाद
थाना प्रभारी ने बताया कि पीड़ित महिला का पूर्व में गांव के रामू मिश्रा से कॉलोनी आवंटन को लेकर विवाद हो गया था। जिसमें दोनो पक्षों की तरफ से एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कराया था। महिला के केस में विवेचना से धारा 354 को बढ़ाया गया। विवेचना जारी है। महिला अपने घर पर रह रही है। जौनपुर में अपनी रिश्तेदारी में जाती आती रहती है। पलायन की बात गलत है।

खबरें और भी हैं...