कानपुर देहात में प्रमुख सचिव ने की समीक्षा बैठक:एल वेंक्टेश्वर लू ने कहा- ब्लैक स्पॉट्स को खत्म किए जाने पर करें काम, सड़क सुरक्षा शासन की प्राथमिकता

कानपुर देहात2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर देहात पहुंचे प्रमुख सचिव, परिवहन विभाग एवं महानिदेशक,एल.वेंक्टेश्वर लू ने कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में प्रमुख बिंदुओं पर सड़क सुरक्षा की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने विगत वर्ष में सड़क हादसों में होने वाली मृत्यु दर ने कमी आने को लेकर परिवहन विभाग के अधिकारियों की प्रशंसा की और ब्लैक स्पॉट को चिन्हित कर उन्हें जड़ से खत्म किए जाने पर विशेष जोर दिया जाने के निर्देश दिए।

प्रमुख सचिव, परिवहन विभाग एवं महानिदेशक,एल.वेंक्टेश्वर लू ने की बैठक।
प्रमुख सचिव, परिवहन विभाग एवं महानिदेशक,एल.वेंक्टेश्वर लू ने की बैठक।

शत प्रतिशत कराई जाए स्थापना
प्रमुख सचिव,परिवहन विभाग एवं महानिदेशक ,एल.वेंक्टेश्वर लू ने मौके पर मौजूद अधिकारियों को निर्देश किया कि जिले के प्रत्येक विद्यालय में सड़क सुरक्षा क्लब की स्थापना शत प्रतिशत कराए जाने तथा सड़क सुरक्षा हेतु विभिन्न स्थानों तथा विद्यालयों में पेंन्टिग व होर्डिंग के माध्यम से जागरूकता लाए जाने पर कार्य किया जाए। उन्होंने विद्यालयों के प्रबन्धकों के साथ बैठक आयोजित कर छात्र-छात्राओं की सुरक्षा हेतु स्कूली वाहनों का फिटनेस नियमित रूप से जांचे जाने तथा ऐसे वाहन जोकि विद्यालय हेतु अनुमन्य नहीं है, उन पर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए उनकी परिमिट खत्म किये जाने के निर्देश भी दिए।

कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में प्रमुख बिंदुओं पर सड़क सुरक्षा की समीक्षा की।
कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में प्रमुख बिंदुओं पर सड़क सुरक्षा की समीक्षा की।

किया जाए व्यापक प्रचार-प्रसार
एल.वेंक्टेश्वर लू ने सर्दी के मौसम में होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के उद्देश्य से व्यापक प्रचार प्रसार हेतु अभियान चलाकर जागरूकता लाए जाने तथा मण्डी आदि स्तर पर भारी वाहनों में रिफ्लेक्टर व रिफ्लेक्टर टेप लगाये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा करते हुए प्रवर्तन कार्य हेतु आवश्यक उपकरणों की मांग किए जाने तथा यातायात व्यवस्थाओं को सुदृढ़ किये जाने हेतु लोक निर्माण विभाग की सहायता से व्यापक स्तर पर कार्य कराए जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि होने वाले सड़क दुर्घटनाओं को कम करने हेतु बच्चों उनके अभिभावकों और अध्यापकों को जागरूक होना जरूरी है,उन्होंने कहा कि दुर्घटनाओं को रोकने और उसके उपरान्त उनको राहत पहुंचाने का समुचित कार्य होना चाहिए। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों को समय पर अस्पताल पहुंचाया जा सके।

यह लोग रहे मौजूद
कलेक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक में मुख्य रूप से जिलाधिकारी नेहा जैन, पुलिस अधीक्षक सुनीति, मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय,अपर जिलाधिकारी प्रशासन केशवनाथ गुप्त,अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व जेपी गुप्ता, मुख्य चिकित्साधिकारी डा.एके सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी डा.प्रज्ञा शंकर, एआरटीओ प्रशासन मनोज वर्मा, एआरटीओ प्रवर्तन सोमलता यादव आदि उपस्थित रहे।