कानपुर देहात में ब्राह्मण V/S ठाकुर:विधायक प्रतिभा शुक्ला बोलीं- सांसद देवेन्द्र सिंह ब्राह्मणों का वोट तो ले लेते हैं, लेकिन उनके लिए काम नहीं करते

कानपुर देहात4 महीने पहले
विधायक प्रतिभा ने सांसद देवेन्द्र पर साधा निशाना।

कानपुर देहात में सोमवार को जिला विकास समन्वय निगरानी समिति की बैठक हुई। बैठक में अकबरपुर सांसद देवेन्द्र सिंह भोले, इटावा सासंद रामशंकर कठेरिया, जिले के सभी विधायक सहित अधिकारी मौजूद रहे। बैठक चल ही रही थी कि अचानक नाराज होकर विधायक प्रतिभा शुक्ला चली गईं।

बीजेपी विधायक प्रतिभा शुक्ला ने बिना नाम लिए सासंद देवेन्द्र सिंह भोले को ब्राह्मण विरोधी बताया। जिस पर सांसद देवेन्द्र सिंह भोले ने कहा कि मुझसे बड़ा ब्राह्मण कोई नहीं है, क्योंकि मैं तो जनेऊ भी पहनता हूं।

मैं तो ऐसी वाटिका में टहलने भी न जाऊं

बैठक में परशुराम वाटिका पार्क के निर्माण कार्य को लेकर चर्चा हो रही थी, लेकिन कुछ चंद लोग परशुराम वाटिका पार्क को बनने नहीं देना चाह रहे थे। ऐसे में विधायक प्रतिभा शुक्ला ने कहा कि कुछ लोग ब्राह्मण से वोट लेते हैं, लेकिन ब्राह्मण की बात नहीं करते। ऐसे ही लोग सरकार को बदनाम करने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि अगर कोई वास्तव में ब्राह्मण है, तो उसे परशुराम वाटिका के लिए बात उठानी चाहिए। मैं तो कानपुर में रहती हूं, लेकिन मैं तो कानपुर देहात की वाटिका में सुबह टहलने भी ना जाऊं।

ये है सरकार को बदनाम करने का फंडा

हम जो भी काम करते हैं, विकास के लिए करते हैं। ऐसा तो है नहीं कि ये विकास कार्य मेरा हो जाएगा। कुछ चंद लोग अपनी बादशाहहद बनाए रखने के लिए और सरकार को बदनाम करने के लिए ये फंडा अपना रहे हैं। मुझे ये समझ में नहीं आता है कि सिर्फ और सिर्फ एक ही टाउन एरिया को निशाना क्यों बनाया जा रहा है।

ब्राह्मणों का कोई नहीं करता समर्थन

उन्होंने कहा कि वो कभी भी ब्राह्मणों की बात नहीं करते हैं। ये कोई पहला मामला नहीं है। ये चौथा मामला है। जब उनके द्वारा ऐसा किया गया है। उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों को मूर्ख बनाकर उनका वोट तो ले लेते हैं, लेकिन ब्राह्मण वाटिका और ब्राह्मण के समर्थन के लिए कभी भी कोई पहल नहीं करते हैं।

मैं हूं असली ब्राह्मण

मामले में बीजेपी सासंद देवेन्द्र सिंह भोले ने बताया कि उनके ऊपर लगाए गए सारे आरोप गलत है। मैंने तो विधायक को बोला था कि मुझसे बड़ा ब्राह्मण कोई नहीं है। मैं खुद जनेऊ पहनता हूं। शायद विधायक को मालूम नहीं है कि मैंने कानपुर में परशुराम वाटिका के लिए पैसा भी दिया है। निर्माण कार्य में सहयोग किया है। उनका कोई व्यक्तिगत कारण रहा होगा। लाभ हानि की बाकी मुझे जानकारी नहीं है।

खबरें और भी हैं...