कानपुर देहात में मौसम बदलने से बढ़ी मरीजों की संख्या:सर्दी, खांसी, बुखार के आ रहे मरीज, अस्पताल में बढ़ने लगी मरीजों की संख्या

कानपुर देहात4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर देहात में भीषण गर्मी के बाद पिछले एक हफ्ते से मौसम सुहावना हो गया है और रुक रुक कर बारिश हो रही है। लेकिन वहीं मौसम में आए बदलाव के चलते सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। जिसके चलते जिला अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की लंबी लाइन लगने लगी है। जिसको देखते हुए स्वास्थ विभाग भी सतर्क हो गया है और जिला अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों को समुचित उपचार दिए जाने के लिए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। साथ ही साथ हर मरीज की संपूर्ण जानकारी भी रखने के आदेश दिए गए हैं।

समय से पहले ही लग जाती है लाइन
कानपुर देहात में मौसम परिवर्तन के चलते जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ने से ओपीडी के खुलने के समय से पहले ही मरीजों का पहुंचना शुरू हो जाता है। लंबी-लंबी लाइनें ओपीडी संचालन के दौरान देखने को मिलती हैं। ओपीडी में तैनात डॉक्टरों की माने तो मौसम परिवर्तन के कारण सर्दी, खांसी, जुकाम के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है, जिसके चलते दूरदराज के मरीज ओपीडी खुलने की समय से पहले ही जिला अस्पताल पहुंच जाते हैं। डॉक्टरों की मानें तो ओपीडी में इस समय हर रोज 150 से ज्यादा मरीज आ रहे हैं।

ओपीडी के बाहर लगी लंबी लाइन
ओपीडी के बाहर लगी लंबी लाइन

बच्चों का रखें विशेष ध्यान
रिमझिम बारिश के चलते मौसम में आए बदलाव को लेकर जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने जिले के आम लोगों को सलाह देते हुए कहा है कि बदलते मौसम में बच्चों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़ों की तुलना में कम होती है। इसलिए इस मौसम में बच्चों के स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखने की आवश्यकता है। इस के साथ अभिभावक बच्चों के खान-पान का खास ख्याल रखें। बच्चों को वर्षा में भींगने नहीं दें,उन्हें फास्ट फूड नहीं दें। साथ ही साथ हो रही रिमझिम बारिश में वयस्क व बुजुर्ग अपना भी ख्याल रखें और रिमझिम बारिश में भीगने से बचें ज्यादा देर तक गीले कपड़े ना पहने।

सीएमओ ने दिए सुझाव, बताया-उबालकर पीएं पानी
कानपुर देहात के सीएमओ एके सिंह ने बताया कि रिमझिम बारिश के चलते हुए मौसम परिवर्तन को लेकर कोई ज्यादा असर देखने को नहीं मिल रहा है। दो से 4 प्रतिशत मरीजों की बढ़ोतरी हुई है और आसपास की सीएससी व अन्य जगहों से मरीज बढ़ने की कोई जानकारी अभी तक प्राप्त नहीं हुई है हां लेकिन या बिल्कुल संभव है कि बदलते मौसम में सर्दी,जुखाम व बुखार के संक्रमण के मरीजों की संख्या बढ़ जाती हैं। जिले में हुई बारिश का असर का प्रभाव 15 से 20 दिन के बाद देखने को मिल सकता है। इसलिए आपके माध्यम से मैं सभी से अपील करना चाहता हूं कि इस समय उबला हुआ पानी अधिक से अधिक पिए और घर में रखा हुआ खाना कतई न खाएं, ताजा खाना खाएं। बाहर की चीजें खाने से बचें और घरों में साफ सफाई रखें और मच्छरों को पनपने न दें।

खबरें और भी हैं...