कानपुर देहात में पत्थरबाजों की पुलिस ने की पिटाई:कोर्ट के आदेश पर मकान ध्वस्त करने पहुंची थी टीम, दो युवकों ने चलाए थे पत्थर

कानपुर देहात4 महीने पहले
पत्थरबाजों की पिटाई करते पुलिसकर्मी।

कानपुर देहात में भोगनीपुर थाना क्षेत्र में कोर्ट के आदेश पर टीम एक मकान को ध्वस्त कराने पहुंची थी। कार्रवाई करने पहुंची टीम पर दो युवकों ने पत्थर बाजी की थी। पुलिस ने दोनों को सरकारी कार्य में बाधा डालने सहित कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है। लेकिन घटना के 3 दिन बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी के साथ वायरल हो रहा है। जिसमें पुलिस द्वारा पत्थरबाजों की जमकर पिटाई करते हुए पुलिसकर्मी दिखाई पड़ रहे हैं।

पुलिस टीम ने छत पर पहुंचकर भांजी लाठियां

कोर्ट के आदेश पर अवैध कब्जे पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई करने पहुंची पुलिस टीम पर पथराव कर रहे दोनों आरोपियों को पुलिस ने घेराबंदी करते हुए छत पर जाकर हिरासत में ले लिया। पत्थर के बदले जमकर दोनों ही आरोपियों के ऊपर अनगिनत लाठियां बरसा दी। वायरल वीडियो में साफ तौर पर दिख रहा है कि पुलिस पत्थर चलाने वाले आरोपियों को छत की जमीन में गिरा कर जमकर लाठी बरसा रही है और वही कुछ पुलिसकर्मी दोनों ही आरोपियों को घेरे खड़े हुए हैं।इस दौरान किसी अन्य युवक ने अपने छत के ऊपर से पत्थर चलाने वाले आरोपियों की पिटाई का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

सोशल मीडिया पर पुलिस ने जारी किया बयान

पत्थरबाजों की पिटाई का सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।वीडियो को लेकर पुलिस ने भी सोशल मीडिया पर बयान जारी करते हुए बताया है कि "उक्त प्रकरण मे दिनांक 18.10.2022 को कस्बा पुखरायां में माननीय न्यायालय के आदेश के क्रम में स्थानीय पुलिस व मा. न्यायालय की संयुक्त टीम द्वारा कार्यवाही की जा रही थी.जिसके विरोध में दो युवको द्वारा टीम पर छत पर से पथराव कर दिया गया था। जिस पर पुलिस द्वारा आवश्यक बल प्रयोग करते हुये दोनो युवको को हिरासत पुलिस मे लिया गया था। प्रकरण के सम्बन्ध में थाना भोगनीपुर पर अभियोग पंजीकृत है।क्षेत्राधिकारी भोगनीपुर को जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है।

एक युवक मौके पर हो गया था घायल

कानपुर देहात के थाना भोगनीपुर के पुखरायां कस्बे में पड़ने वाले किदवई नगर मोहल्ले में एक जमीन का विवाद न्यायालय अपर सिविल जज (सी.डि) कोर्ट संख्या -01,कानपुर देहात में सत्यदेव बनाम मोतीलाल कोर्ट में विचाराधीन चल रहा था।जिसमें लंबे समय के बाद कोर्ट ने सत्यदेव के पक्ष में फैसला सुनाते हुए पुलिस को निर्देशित किया था कि जमीन के ऊपर बने अवैध मकान की ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जाए और कब्जा दिलवाया जाए।कोर्ट के आदेश का अनुपालन कराने के लिए बीते मंगलवार पुलिस बुलडोजर लेकर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की शुरुआत ही कर रही थी। इसी दौरान अवैध बने मकान की छत से समीर व कार्तिक ने गाली गलौज करते हुए ईट पत्थर चला दी थे। जिसकी चपेट में आकर मौके पर मौजूद 1 गंभीर रूप से युवक घायल हो गया था व कुछ पुलिसकर्मी भी को भी चोट आ गई थी। जिसके बाद छत से ईट पत्थर चला रहे समीर व कार्तिक को पुलिस ने घेराबंदी करते हुए हिरासत में ले लिया था। तब जाकर कहीं मामला शांत हुआ और ध्वस्तीकरण कार्रवाई पूरी हो सकी थी।

खबरें और भी हैं...