बिकरू कांड में गवाह नहीं पहुंच रहे कोर्ट:अमर दुबे की पत्नी पर फर्जी आईडी से सिम लेने का मामला, फिर बढ़ाई गई तारीख

कानपुर देहातएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिकरू कांड के मामले में पुलिस ने अमर दुबे की नाबालिग पत्नी को भी गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
बिकरू कांड के मामले में पुलिस ने अमर दुबे की नाबालिग पत्नी को भी गिरफ्तार किया है।

कानपुर के थाना चौबेपुर में बीते साल 2 जुलाई 2020 को देर रात हुए बिकरू कांड की सुनवाई कानपुर देहात के माती कोर्ट में चल रही है। बावजूद इसके, गवाह कोर्ट में आने से कतरा रहे हैं। एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की आरोपी नाबालिग पत्नी पर बिकरू कांड में शामिल होने के साथ-साथ फर्जी आईडी से सिम लेने का मामला कानपुर देहात में चल रहा है। इस मामले की सुनवाई किशोर न्याय बोर्ड में होनी थी, लेकिन गवाहों के न पहुंचने से सुनवाई की तारीख फिर से बढ़ा दी गई। अब किशोर न्याय बोर्ड ने 18 दिसंबर को गवाही कराने के आदेश दिए हैं।

कोर्ट में आने से कतरा रहे गवाह
आपको बता दें कि बिकरू कांड में एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की नाबालिग पत्नी पर चौबेपुर इंस्पेक्टर कृष्णमोहन राय ने फर्जी आईडी से सिम लेने का भी मुकदमा दर्ज किया था। इसके चलते 26 नवंबर को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष गवाह मदारीपुर निवासी संतराम उपस्थित हुए थे। उन्होंने एक प्रार्थना देकर तबियत न ठीक होने की वजह से गवाही देने में असमर्थता जताई थी। इसके बाद किशोर न्याय बोर्ड ने 14 दिसंबर तारीख दी थी, लेकिन इस तारीख पर भी गवाह नहीं आए। वहीं, सुनवाई के दौरान अमर दुबे की नाबालिग पत्नी किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष उपस्थित रही।अब मामले की अगली सुनवाई 18 दिसंबर को होगी।

क्या था मामला

कानपुर के चौबेपुर में बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे और उसके गुर्गों ने डीएसपी और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने विकास दुबे सहित उसके सबसे ज्यादा खास अमर दुबे को भी एनकाउंटर में मार गिराया था। वहीं, पुलिसकर्मियों को मारने में शामिल कई अन्य साथियों को पुलिस ने पकड़ा कर जेल भेज दिया था। इस मामले में चौबेपुर पुलिस ने एनकाउंटर में मारे गए आरोपी अमर दुबे की पत्नी को भी मुकदमे में शामिल किया था। इसके बाद उसे जेल भेज दिया गया।