सिकन्दरा के असलनापुर गांव में तिरंगे का अपमान:केसरिया रंग की जगह पोता गया लाल रंग, एसडीएम ने दिया जांच करने का आदेश

सिकन्दरा4 महीने पहले
गांव असल्लापुर में तिरंगे के रंग के साथ छेड़छाड़, केसरिया की जगह पोता लाल रंग

आजादी की 75वीं वर्षगांठ को धूमधाम से मनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घर घर तिरंगा और हर घर तिरंगे की मुहिम चला रहे हैं। वही गांव में बिजली के खंभे हैंडपंप यहां तक कि विद्यालय के मेन गेट पर तिरंगे के तीन रंग पोत कर तिरंगा बनाया जा रहा है। वहीं गांव असलनापुर में तिरंगे का अपमान होता नजर आ रहा है।

झंडे के ऊपर केसरिया रंग होता है जो कि आजादी के वीर सपूतों की शहादत के प्रतीक माना जाता है लेकिन उसकी जगह गहरा गाढ़ा लाल रंग पोता जा रहा है। पुताई कर रहे पेंटर सनी ने बताया कि गांव के बिजली के खंभे हैंड पंप और विद्यालय के मेन गेट पर तिरंगे की पुताई का काम हमें रोजदारी पर दिया गया है।

गांव के विद्युत पोल व नल को भी गलत रंग से पोता गया
गांव के विद्युत पोल व नल को भी गलत रंग से पोता गया

गांव के लोगों को भी पता है तिरंगे का कलर

जब पेंटर से पूछा गया कि पेंट तुम लेकर आए हो या किसी ने दिया है, तो पेंटर ने बताया कि हमें पेंट ब्लाक प्रमुख के द्वारा दिया गया है। वही जब गांव के व्यक्तियों से गांव में पोते जा रहे तिरंगे के इस कलर के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि सरासर तिरंगे के रंग के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। ऊपर लाल रंग की जगह केसरिया रंग होता है, गांव के लोगों तक को जानकारी है कि तिरंगे के सबसे ऊपर पर कौन सा रंग होता है।

गांव की दीवारों व पोल पर गलत रंग का प्रयोग
गांव की दीवारों व पोल पर गलत रंग का प्रयोग

तिरंगे के रंग के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा- एसडीएम
जब इस मामले में एसडीएम सिकंदरा डॉ पूनम गौतम से बात की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि आपके द्वारा मामला संज्ञान में लाया गया है। इसकी जांच कराई जाएगी तिरंगे के नियम या तिरंगे के रंग से किसी के साथ भी खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, जिसने भी ऐसा करवाया है, उसके ऊपर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

गांव की पंचायत व स्कूलों में भी तिरंगे में हुए रंग का गलत प्रयोग
गांव की पंचायत व स्कूलों में भी तिरंगे में हुए रंग का गलत प्रयोग

किसी निजी व्यक्ति द्वारा कराया जा रहा काम- बीडीओ
वही जब इस मामले में खंड विकास अधिकारी संदलपुर धन प्राप्त यादव से बात की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि यह काम ब्लॉक स्तर से नहीं कराया जा रहा है। किसी निजी व्यक्ति द्वारा इस काम को कराया जा रहा है। विकास अधिकारी को तत्काल मौके पर जाकर लाल रंग को पटवा कर केसरिया कराने के लिए कह दिया गया है। अगर कोई तिरंगे के नियम या उसके रन के साथ छेड़छाड़ करता है तो यह दंडनीय अपराध है। उसके खिलाफ आवश्यक वैधानिक कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और भी हैं...