ताजिए को लेकर हुआ विवाद निपटाने पहुंची एसडीएम:सिकन्दरा में दोनों पक्षों को बैठाकर समझाने की कोशिश, नहीं निकला कोई समाधान

सिकन्दरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिकंदरा में ताजिए को लेकर शुरू हुआ विवाद निपटाने तहसीलदार और सीओ के साथ एसडीेएम मौके पर पहुंची। - Dainik Bhaskar
सिकंदरा में ताजिए को लेकर शुरू हुआ विवाद निपटाने तहसीलदार और सीओ के साथ एसडीेएम मौके पर पहुंची।

तहसील सिकंदरा क्षेत्र के गांव अफसरिया गांव में ताजिए के विवाद को लेकर एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर तहसीलदार और सीओ भोगनीपुर के साथ मिलकर विवादित जगह का निरीक्षण किया। दोनों ही पक्ष के लोगों से बात कर विवाद के निस्तारण की बात कही। शनिवार को विवाद में कोई समाधान नहीं हो सका।

तहसील सिकंदरा के एक गांव अफसरिया में 8 अगस्त को मोहर्रम के जुलूस के तहत निकलने वाले ताजिया के प्रोग्राम को देखते हुए गांव के शाकिर अली ने तहसील सिकंदरा की उपजिला अधिकारी डॉ. पूनम गौतम को ताजिए निकासी को लेकर गांव के फारुख खान, जुनैद खान, अनीस, अकील के द्वारा रास्ते पर कटीले तार लगाकर कब्जा करने की शिकायत की थी। बताया गया कि ताजियादार साकिर हर साल वहीं से अपने ताजियों को निकालते हैं।

सिकंदरा में ताजिया के रास्ते को लेकर विवाद में एसडीएम ने निरीक्षण किया।
सिकंदरा में ताजिया के रास्ते को लेकर विवाद में एसडीएम ने निरीक्षण किया।

निस्तारण न होने पर ताजिया न उठाने की चेतावनी
इस पर कुछ लोगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। वहीं शिकायत का निस्तारण न होने पर साकिर के द्वारा ताजिया उठाने से इंकार कर दिया गया। आज एसडीएम सिकंदरा पूनम गौतम तहसीलदार और थाना सट्टी पुलिस के साथ क्षेत्राधिकारी भोगनीपुर तनु उपाध्याय के साथ मिलकर निरीक्षण किया। दोनों ही पक्ष के लोगों से वार्तालाप की, लेकिन आज की वार्तालाप में कोई निर्णय नहीं निकला।

आबादी की जमीन होने से निस्तारण में कठिनाई
इसके बाद सोमवार को दोनों ही पक्षों के द्वारा बैठक कर जल्द से जल्द मामले के निस्तारण की कवायद तेज की गई। एसडीएम पूनम गौतम ने बताया कि मामला ताजिए को लेकर निकलने के रास्ते को है। इस पर ताजिएदार साकिर ने गांव के लोगों पर कब्जा करने का प्रार्थना पत्र दिया। एसडीएम ने कहा कि जमीन गांव की आबादी की है। इस कारण से शिकायत के निस्तारण में कठिनाई हो रही है, लेकिन 8 तारीख से पहले मामले सकुशल दोनों पक्षों की मौजूदगी में विवाद रहित कर दिया जाएगा। ।

खबरें और भी हैं...