• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • 55 Thousand Population Including Harbansh Mohal, Hulaganj Will Get Water From Tap, MLAs Also Jumped In The Happiness Of People, Chanting Ganga Maiya, Kanpur Jal Nigam, Water Crisis, JNNURM, Harbans Mohal, Gadariya Mohal, Hoolaganj, Kanpur

कानपुर... 12 साल बाद फूटा खुशी का फव्वारा:हरबंश मोहाल, हूलागंज समेत 55 हजार आबादी को अब नल से मिलेगा पानी, लोगों की खुशी में विधायक भी झूम उठे, लगाए गंगा मैया के जयकारे

कानपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पानी आते ही लोगों ने लगाए गंगा मैया के जयकारे। क्षेत्र में दौड़ी खुशी की लहर। - Dainik Bhaskar
पानी आते ही लोगों ने लगाए गंगा मैया के जयकारे। क्षेत्र में दौड़ी खुशी की लहर।

गुरुवार को हरबंश मोहाल वार्ड, दानाखोरी वार्ड, गड़रिया मोहाल, तिलयाना, लोकमन, मोती मोहाल हूलागंज समेत 55 हजार आबादी को अब पानी के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। जल निगम की टेस्टिंग में वाटर लाइन से खुशी का फव्वारा फट पड़ा। लोगों ने गंगा मैया की जय के नारे लगाकर खुशी का इजहार किया। लोग इतने खुशी हुए कि पानी के आने में नाचने और जश्न मनाने लगे।

टेस्टिंग में सफल हुई लाइन
जेएनएनयूआरएम योजनाके तहत बनी मालवीय पार्क में अंडरग्राउंड टंकी फूलबाग जोनल पंपिंग स्टेशन से कनेक्ट कर दिया गया है। बीते 15 दिनों से इस पर काम चल रहा था। गुरुवार को टेस्टिंग की गई तो कहीं भी वाटर लाइन नहीं फटी। पानी आते ही क्षेत्रीय लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई।

पानी आने की खुशी में भीगते हुए पार्षद और विधायक।
पानी आने की खुशी में भीगते हुए पार्षद और विधायक।

3 दिन में पहुंचने लगेगा पानी
जल निगम ने टेस्टिंग के बाद मैरी लाल चौराहा पर डाकखाने के पास स्थित वॉल्व को खोलकर देखा तो वहां तक तेज प्रेशर से पानी आ गया था। मेन लाइन में पानी आता देख क्षेत्रीय लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई। अब उन्हें सीधे घरों में नल से ही तेज प्रेशर के साथ पानी मिल जाएगा। बता दें कि मालवीय पार्क में जेएनएनयूआरएम योजना के तहत 12 साल पहले अंडरग्राउंड टंकी बनाई गई थी। अब जाकर पानी सप्लाई शुरू हो सकेगी।

क्षेत्रीय लोगों ने किया पंपिंग स्टेशन का पूजन।
क्षेत्रीय लोगों ने किया पंपिंग स्टेशन का पूजन।

मोटर बनाने का काम शुरू
टेस्टिंग के दौरान क्षेत्रीय विधायक अमिताभ बाजपेई भी मौजूद रहे। क्षेत्रीय पार्षद बबलू मेहरोत्रा ने बताया कि लाइन की टेस्टिंग सफलतापूवर्क हो गई है। जोनल पंपिंग स्टेशन (जेडपीएस) में लगी मोटर और स्टार्टर बीते 12 साल से बंद थे। इसलिए ये खराब निकले हैं। इनकी रिपेयरिंग का काम शुरू कर दिया गया है। 3 दिन में टंकी से पानी सप्लाई होना शुरू हो जाएगा।

लोग मोटर लगाकर भरते थे पानी
कानपुर के सबसे पुराना और घनी आबादी के सभी क्षेत्र हैं। यहां अंग्रेजों के जमाने की लाइनें पड़ी थी। जिनमें ज्यादालर खराब हो चुकी थीं। लोगों को रोजाना हैंडपंप या लाइन में पानी की मोटर लगाकर पानी भरना पड़ता था।

पुरानी लाइनों में पानी को प्रेशर भी काफी कम था। लोगों के मोटर लगाकर पानी खींचना पड़ता था। अब पानी के लिए 55 हजार आबादी को जूझना नहीं पड़ेगा। क्षेत्रीय निवासी राजू पाल, शिवम, नंदलाल जायसवाल, अंबर त्रिवेदी, शशि शर्मा, केके मालवीय ने बेहद खुशी जताई।

खबरें और भी हैं...