तीसरी लहर के लिए सीएसजेएमयू में तैयार है दो वार्ड:एक छात्रा मिली पॉजिटिव, आइसोलेशन वार्ड में एडमिट किया गया है उसे

कानपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय। - Dainik Bhaskar
छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय।

छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय प्रशासन ने ओमीक्रॉन के फैलते इन्फेक्शन को देखते हुए दो आइसोलेशन वार्ड बना दिए हैं। इसमें एक वार्ड छात्रों के लिए रिज़र्व रखा जायेगा और दूसरे वार्ड में छात्राओं के लिए रखा गया है। बुधवार देर शाम विवि में चिकित्सकों की एक विशेष टीम हॉस्टल में रह रहे सभी छात्र-छात्राओं की कोरोना जांच करने पहुंची। जिससे की कैम्पस में फ़ैल रहा संक्रमण को को कंट्रोल में रखा जा सके।

ओमीक्रोन के बढ़ते संक्रमण के लिए बुलाई आपात बैठक
सीएसजेएमयू के कुलपति प्रो विनय कुमार पाठक ने ओमीक्रोन के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बुधवार को देर शाम वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये एक आपात बैठक की। इसमें बाहर के इलाकों से आरहे स्टूडेंट्स के बारे में बात की गयी। वाराणसी से कैम्पस आई छात्रा को विवि ने आइसोलेशन कक्ष में रखा है। विवि प्रशासन छात्रा के अभिभावकों से फोन के जरिये संपर्क में है। विवि के चीफ वार्डन डॉ आरएन कटियार ने बताया कि, जितने भी छात्र वापस आ रहे है उनकी जांच कराई जाएगी। अगर किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उनको आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा। छात्र अगर घर जाने की बात कहता है तो विवि उसे गाड़ी उपलब्ध कराकर घर भेजने का इंतजाम कराएगा। डॉ कटियार ने कहा कि छात्रा के घर वाले अगर उसे वापस बुलाते हैं तो गाड़ी की व्यवस्था कराकर उसे वाराणसी भेज दिया जाएगा।

बनारस से आरही स्टूडेंट पायी गयी पॉजिटिव
वाराणसी से वापस कैम्पस आ रही एक छात्रा के रेलवे स्टेशन पर कोरोना पॉजिटिव आने के बाद यह बैठक बुलाई गई थी। कुलपति ने तत्काल सभी भवनों, हॉस्टलों को सेनेटाइज करने का निर्देश देने के साथ साथ बाहर से आने वाले लोगों पर भी पाबंदी लगाने के लिए कहा गया है। साथ ही सेनेटाइजेशन का कार्य निरंतर अंतराल पर होता रहेगा।