मटर और प्लास्टिक ब्रोकर के यहां डीजीजीआई की छापेमारी:दिन भर चली कार्यवाही के बाद दस्तावेज जब्त कर दलाल को साथ ले गई टीम

कानपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गौरव के घर के बाहर खड़ी डीजीजी� - Dainik Bhaskar
गौरव के घर के बाहर खड़ी डीजीजी�

डायरेक्टर जनरल जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआई) दिल्ली की टीमों ने शुक्रवार को कलक्टरगंज पुरानी दाल मंडी में छापेमारी की। मटर और पॉलिथीन की दलाली करने वाले के घर दिन भर कार्यवाही चली। दिन भर चली छानबीन और पूछताछ के बाद टीम उसे साथ लेकर रवाना हो गयी। चर्चा है कि फर्जी बिलिंग और इनवाइस के मामले में यह दलाल जीएसटी की चोरी में लिप्त है।

दिल्ली से आई डीजीजीआई की तीन टीमों ने शुक्रवार लगभग 5 बजे कलक्टरगंज पुरानी दाल मंडी में गौरव जायसवाल के घर छापेमारी की। दिल्ली की टीम में करीबन 10 से ज्यादा अफसर शामिल थे। टीम ने गौरव के घर की तलाशी ली और सभी कारोबारी दस्तावेज देखे। दिनभर घर पर ही कड़ी पूछताछ की गयी। छानबीन खत्म होने के बाद डीजीजीआई की टीम गौरव को अपने साथ ले गई।

पॉलीथिन के काम मे बनाई बोगस कंपनी

पिछले कुछ वर्षों से गौरव पॉलिथीन का काम कर रहा है। जानकारी के मुताबिक बोगस कंपनी और फर्मों के बिल-पर्चे के काम में उसका नाम सामने आया। पिछले दिनों दिल्ली में डीजीजीआई ने लोहे की फर्म पर कार्यवाही की थी। इस लोहे की फर्म में फर्जी बिल, इनवाइस बरामद हुए थे। इन फर्जी बिलों को कानपुर से जारी किया गया था। इसके बाद गौरव का नाम सामने आने पर कार्रवाई की गई है। गौरव पहले मटर का काम करता था। कनाडा से आने वाली मटर नेपाल के जरिए मंगाता था।

डीजीजीआई की कार्यवाही बनी चर्चा का विषय

कमीशन एजेंट के तौर पर काम करने वाले गौरव के घर में डीजीजीआई दिल्ली की कार्यवाही पूरे शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है। गौरव का रहन-सहन बेहद लो प्रोफाइल है। एक हाता में बने घर में गौरव रहता है। शहर के कारोबारी और मोहल्ले वालों को इस बात पर भरोसा ही नहीं हो रहा है, कि गौरव बोगस कंपनियों के के द्वारा इस पैमाने पर लिप्त है।

खबरें और भी हैं...