कानपुर में पुलिस पर फायरिंग का VIDEO:ढाई घंटे तक चलाता रहा पुलिस पर गोलियां; निशाना न चूकता तो बिकरू गांव जैसी वारदात होती

कानपुर2 महीने पहले

कानपुर के चकेरी में रविवार को पुलिस पर ढाई घंटे तक फायरिंग करने वाले आरोपी का वीडियो अब सामने आया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वह कोई पेशेवर अपराधी नहीं है। दैनिक भास्कर की पड़ताल में सामने आया कि वह बेटे-बहू से परेशान है और मानसिक तनाव की वजह से फायरिंग कर दी।

गनीमत रही कि उसका निशाना चूक गया, वरना बिकरू गांव जैसी वारदात हो जाती। पुलिस ने उसे और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। पत्नी पर उसे फायरिंग के लिए गोलियां देने का आरोप है।

आरोपी राजकुमार दुबे ने पुलिस पर करीब 40-45 राउंड फायरिंग की।
आरोपी राजकुमार दुबे ने पुलिस पर करीब 40-45 राउंड फायरिंग की।

शेयर ट्रेडिंग का काम करता है राजकुमार
श्याम नगर में सी ब्लॉक के रहने वाले राजकुमार दुबे शेयर ट्रेडिंग करते हैं। घर में पत्नी किरन, दिव्यांग बेटी चांदनी, दो बेटे सिद्धार्थ और राहुल हैं। बड़े बेटे सिद्धार्थ ने 7 जुलाई 2021 को भावना अवस्थी से लव मैरिज कर ली थी।

दुबे ने फायरिंग शुरू की तो पुलिस ने भी संभाला मोर्चा। फायरिंग से इलाके में दहशत है।
दुबे ने फायरिंग शुरू की तो पुलिस ने भी संभाला मोर्चा। फायरिंग से इलाके में दहशत है।

अलग रह रहे हैं दोनों बेटे
शादी होने के बाद बेटे और बहू से कलह के चलते राजकुमार और उनकी पत्नी अपनी 18 साल की दिव्यांग बेटी के साथ घर के पिछले हिस्से में रहने लगे थे। 15 दिन पहले छोटा बेटा राहुल भी शादी करके घर से अलग रहने लगा। बड़े बेटे बहू संपत्ति और रुपए के लिए दबाव बना रहे थे। विरोध करने पर मारपीट पर उतारू हो गए और पुलिस को बुला लिया।

इन सब बातों से आहत आरके दुबे पुलिस की दबिश इतनी नागवार गुजरी की सीधे डबल बैरल बंदूक निकालकर फायर कर दिया। DCP ईस्ट प्रमोद कुमार से पूछताछ के दौरान आरोपी राजकुमार ने यह बात कही।

बेटे और बहू को भी पुलिस ने मौके से हिरासत में लिया था, लेकिन पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।
बेटे और बहू को भी पुलिस ने मौके से हिरासत में लिया था, लेकिन पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।

शेयर मार्केट में हुआ था लाखों का नुकसान
पुलिस की पूछताछ के दौरान पत्नी किरन ने दावा किया है कि 2003 में शेयर ट्रेडिंग में उन्हें लाखों रुपए का नुकसान हुआ था। इस वजह से मानसिक संतुलन खो बैठे थे। इधर, बेटे बहू ने रुपए और संपत्ति के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया था। इसी के चलते वह परेशान थे।

DCP ईस्ट प्रमोद कुमार ने बताया कि उन्होंने आरोपी आरके दुबे और उसकी पत्नी किरन के खिलाफ हत्या के प्रयास, सरकारी कार्य में बाधा, आर्म्स एक्ट समेत अन्य गंभीर धाराओं में FIR दर्ज की है। आरके दुबे को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया था। जांच में सामने आया था कि पुलिस पर फायरिंग के दौरान किरन पति को रोकने की बजाए कारतूस दे रही थी। वीडियो बना रहे पुलिस कर्मियों को छत से धमकी दे रही थी।

घटना के दौरान हुई फायरिंग को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स को मौके पर तैनात किया गया।
घटना के दौरान हुई फायरिंग को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स को मौके पर तैनात किया गया।

हेलमेट लगाकर पुलिस पर बरसा रहा था गोलियां
आरोपी आरके दुबे ने एक-दो नहीं पुलिस पर ताबड़तोड़ 40 से 45 फायर किए। हेलमेट लगाकर पुलिस पर सीधे फायर झोंक रहा था। गनीमत रही कि गोली का निशान सटीक नहीं बैठा और पुलिस कर्मी सिर्फ छर्रा लगने से घायल हुए। अगर गोली का निशाना सटीक बैठ जाता तो पुलिस कर्मी की मौत हो जाती।

निशाना चूक गया नहीं तो होता बिकरू कांड 2
पुलिस पर गोलियां बरसाने वाला आरके दुबे का निशाना अगर ठीक होता तो बिकरू कांड दोहरा उठता। बिकरू कांड में दबिश पर गई पुलिस पर हमले में डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हुए थे। ठीक इसी तरह पुलिस के दबिश देते ही आरके दुबे ने ही फायरिंग शुरू कर दी और दरोगा हिमांशु त्यागी समेत तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए। अगर निशाना सटीक बैठ जाता तो डबल बैरल की गोली सीधे पुलिस कर्मियों के सीने में धंस जाती।