जीका संक्रमण रोकने को एयरफोर्स स्वाथ्य विभाग सक्रिय:एयरफोर्स ने अपनी गठित की ट्रेसिंग और सैंपल कलेक्ट करने के लिए टीम

कानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएम और सीएमओ निरीक्षण करते हुए - Dainik Bhaskar
डीएम और सीएमओ निरीक्षण करते हुए

शहर में जीका के नए मामले मिलने के बाद से ही प्रशासन ने अपनी कमर कस ली है। गुरुवार को एक साथ 59 नए मामले मिलने से शहर में हड़कंप मच गया था। शहर में जीका पॉजिटिव मरीजों की संख्या 95 हो गयी है। इसके चलते जिलाधिकारी कानपुर नगर विशाख जी ने सीएमओ डॉ नेपाल सिंह और अन्य अधिकारियों के साथ मामलों को कंट्रोल और सोर्स का पता लगाने के लिए बैठक की। शुक्रवार को सभी अधिकारियों ने जीका वायरस प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण किया साथ ही चकेरी से लगे इलाकों में यह न फैले इसके लिए उन इलाकों का भी जायजा लिया।

चकेरी से लगे अन्य क्षेत्र का किया जा रहा है निरीक्षण...
चकेरी में इतने मामले मिलने के बाद प्रशासन ने इससे लगे अन्य इलाके में भी निरीक्षण करना शुरू कर दिया है। प्रशासन का मानना है कि अगर चकेरी से लगे अन्य क्षेत्र में पहले से निगरानी रखी जाये तो जीका को रोका जा सकता है। इसी क्रम में शुक्रवार को सीएमओ ने यशोदा नगर, गोपाल नगर, कैंट एरिया, महाराजपुर इलाकों का दौरा किया।

सबसे ज्यादा खतरा एयरफोर्स कॉलोनी में...
एयरफोर्स स्टेशन में पहला मामला मिलने के बाद से ही एयरफोर्स अधिकारी अपने एरिया में फॉगिंग और एंटी लार्वा छिड़काव करवा रहे है। एयरफोर्स की कई कॉलोनियां बेस से 3 से 4 किमी की दुरी पर भी बनी है जिसकी वजह से वहां पर रह रहे लोगों पर जीका का ज्यादा खतरा मंडरा रहा है। जेके कॉलोनी में करीब 1100 परिवार रहते है, इसी तरह आकाश गंगा कॉलोनी में करीब 800 परिवार इस समय रह रहे है। इन सब जगह पर एयरफोर्स ही फॉगिंग और छिड़काव करवा रहा है।

एयरफोर्स ने भी बनाई है टीम...
एयरफोर्स के अधिकारियों ने अपनी एक टीम गठित की है जो अपने एरिया में घर घर जा कर सर्वे करेगी और सोर्स डिटेक्शन का काम करेगी। इसके अलावा वह लोग सैंपल भी कलेक्ट करेंगे।

खबरें और भी हैं...