• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • All Arrangements Of Fire Brigade, Municipal Corporation And Police Failed, A Team Of Six Employees Of A Private Company Took Out The Woman's Body By Landing In The Well.

जब बंदरों ने कुएं में पड़ी लाश को खोज निकाला:कानपुर की महिला लापता थी, बंदरों ने कुएं की ओर बार-बार किया इशारा, लोगों ने झांककर देखा तो लाश मिली

कानपुर3 महीने पहले

कानपुर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बंदरों ने 70 फीट गहरे एक कुएं में पड़ी महिला की लाश को खोज निकाला। गुरुवार सुबह महिला शौच के लिए निकली थी। दो घंटे तक जब वह नहीं लौटी तो परिजनों ने तलाश की। इसी बीच दो बंदर कुएं के पास उछल-कूद करने के साथ चीख रहे थे।

वे बार-बार कुंए के भीतर देखने के साथ ही इशारा कर रहे थे। लोगों को लगा कि बंदर का बच्चा कुएं में गिर गया होगा। जब लोगों ने झांककर देखा तो लापता महिला का शव पड़ा था। तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने एक निजी कंपनी के कर्मचारी के सहारे 10 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद शव बाहर निकलवाया।

मां की मौत के बाद बिलखती बेटी को सांत्वना देते मोहल्ले के लोग।
मां की मौत के बाद बिलखती बेटी को सांत्वना देते मोहल्ले के लोग।

दिनेश ने बताया आंखों देखा हाल

मोहल्ले में रहने वाले दिनेश सिंह चौहान ने बताया कि सुबह से दो बंदर लगातार कुएं के पास उछल-कूद करने के साथ ही चीख रहे थे। बार-बार कुंए के भीतर देखने के साथ ही इशारा कर रहे थे। उन्हें लगा कि बंदर का बच्चा कुएं में गिर गया होगा। जब उन्होंने टॉर्च लगाकर देखा तो महिला का शव अंदर दिखाई पड़ा। इसके बाद घंटों से राजकुमारी को खोज रहे उनके परिजनों को कुएं में उनके कूदने की जानकारी हो सकी।

फायर ब्रिगेड की रेस्क्यू वैन संसाधन नहीं होने से बैरंग वापस लौटी।
फायर ब्रिगेड की रेस्क्यू वैन संसाधन नहीं होने से बैरंग वापस लौटी।

सूखा था कुआं, जहरीली गैस के चलते दमकल कर्मियों ने खड़े कर दिए थे हाथ

सीसामऊ थाना क्षेत्र के 'बद्री प्रसाद का हाता' निवासी राधेश्याम कुशवाहा की पत्नी राजकुमारी (42) गुरुवार भोर में घर से बाहर निकली थीं। मानसिक तनाव के चलते वह हाते में कई दशक पुराने सूखे पड़े कुएं में कूद गई। दो घंटे तक वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने तलाश शुरू की, तब मोहल्ले के लोगों से पता चला कि राजकुमारी का शव पुराने कुएं में पड़ा है। सूचना पर सुबह 7 बजे से सीसामऊ पुलिस के साथ आसपास के लोगों ने राजकुमारी के शव को बाहर निकालने का प्रयास शुरू किया। सभी नाकाम रहे। दमकल और जल निगम की टीमें भी वहां पहुंचीं, लेकिन कुएं में गैस होने के चलते एक दमकल कर्मचारी की हालत बिगड़ गई वह और बेहोश होते-होते बचा।

घंटों मशक्कत के बाद पुलिस और दमकल कर्मियों ने हाथ खड़े कर दिए। इसके बाद सीसामऊ थाने के पास गहरी सीवर लाइन की सफाई कर रही एक निजी कंपनी के कर्मचारी ऑक्सीजन मास्क लगाकर कुएं में उतरे। तब जाकर 10 घंटे बाद शाम 5 बजे महिला का शव बाहर निकल सका। इसके बाद सीसामऊ पुलिस ने उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

शव निकालने का प्रयास करती पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम।
शव निकालने का प्रयास करती पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम।

ऑक्सीजन की कमी से रेस्क्यू में जूझे कर्मचारी
कुआं तकरीबन 70 मीटर गहरा है। काफी समय से बंद पड़ा है। महिला के गिरने की सूचना पर रोहित त्रिपाठी नाम का शख्स कुएं में घुसा, लेकिन उसकी सांस उखड़ने लगी। वहीं उसका रस्सा भी छूट गया। इसलिए, वह आनन-फानन में बाहर आ गया। दमकल कर्मियों के पास भी इतनी बड़ी सीढ़ी नहीं थी, जिससे नीचे तक पहुंचा जा सके। तमाम कर्मचारी भीतर घुसने की हिम्मत भी जुटा नहीं पा रहे थे। जो भी घुसता था उसका दम घुटने लगता था। इसलिए पूरे एहतियात के साथ टीम दाखिल हुई तब शव को निकाल सकी।

फायर ब्रिगेड की टीम ने सरेंडर किया
कुएं में शव निकालने का प्रयास करने में असफल होने पर सीसामऊ पुलिस ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी। कर्नलगंज फायर स्टेशन से एफएसओ रमेश चंद्रा टीम के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन 70 मीटर लंबी सीढ़ी नहीं होने के चलते कोई कुएं में नहीं उतर सका।

रस्सी के सहारे एक जवान को भीतर उतारने का प्रयास किया तो वह बेहोश होने लगा तो उसे वापस खींच लिया। इसके बाद फायर ब्रिगेड की टीम ने भी हाथ खड़े कर दिए। उनके पास न ही ऑक्सीजन गैस सिलेंडर था और न ही अन्य इंतजाम। एफएसओ कर्नलगंज ने बताया कि फायर ब्रिगेड की टीम के पास पर्याप्त साधन नहीं होने की वजह से महिला का शव फायर ब्रिगेड की टीम बाहर नहीं निकाल सकी।

आर्थिक तंगी से परेशान महिला कुएं में कूदी

एसीपी सीसामऊ निशांक शर्मा ने बताया कि आर्थिक तंगी से परेशान होकर राजकुमारी ने खुदकुशी की है। इसी से संबंधित तथ्य अभी तक जांच में सामने आए हैं। अगर कोई और तथ्य होगा तो उसकी जांच की जाएगी। फिलहाल किसी ने कोई आरोप नहीं लगाया है। पोस्टमार्टम के बाद स्थिति और साफ हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...